Advertisements

15 कमरों का रिहायशी मकान जला, चार परिवार हुए बेघर, लाखों का नुकसान

- Advertisement -

लीलाधर चौहान/ जंजैहली। सिराज विधानसभा क्षेत्र की तहसील मुख्यालय थुनाग के अतिदुर्गम क्षेत्र  की ग्राम पंचायत थाना के गांव कांढ़ी कलवाड़ा में चार परिवारों का रिहायशी मकान में आग लगने से लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। हालांकि किसी प्रकार के जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है। लकड़ीनुमा इस रिहायशी मकान में 15 कमरे थे, जिसमें चार परिवार रहते थे। आग लगने के समय परिवार के सदस्य घर में नहीं थे।  स्थानीय पंचायत के लोगों ने बड़ी मुश्किल के बाद आग पर नियंत्रण पाया। 60 परिवारों वाले इस पूरे गांव को आग से बचा लिया गया।

प्रत्यक्षदर्शी स्थानीय पंचायत के उप्रप्रधान डहल दास ने बताया कि आग इतनी भंयकर थी कि आग पर नियंत्रण पाना मुश्किल था, लेकिन ग्रामीणों ने बड़ी मशक्त के बाद आग पर काबू पा लिया। पंचायत के उपप्रधान डहल देव के अनुसार गांव कांढ़ी कलवाडा के लकड़ीदार रिहायशी मकान में पंद्रह कमरे थे, जिसमें चार परिवार मिल कर रहते थे।Fire

पूर्व पंचायत सदस्य वेद पुत्र कालू राम, जबना देवी पत्नी कांशी राम, देवी राम पुत्र कालू राम व हेतराम पुत्र संगत राम परिवार इस रिहायशी मकान में रहते थे। मिली जानकारी के अनुसार वीरवार दोपहर बाद अचानक आग लगने से अफरा-तफरी मच गई, जिससे पूरे क्षेत्र में आग की सूचना मिलते ही पंचायत के लोग इकट्ठे होकर आग बुझाने लगे। हालांकि अभी तक आग लगने के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है।

आपको बता दें कि ग्राम पंचायत के थाना गांव कांढ़ी कलवाड़ा में पानी की समस्या चली रहती है। लोगों को पेयजल उपलब्ध ना होने के कारण लोगों को पानी के लिए दो किलोमिटर दूर बावड़ी से पानी लाना पड़ता है। ऐसे में आग बुझाने के लिए कहां से मिल सकता है। पानी ना मिलने पर आग पर जल्द काबू नहीं पा सके। गांव में पानी काफी मात्रा में उपलब्ध होता तो रिहायशी मकान बच सकता है।

पंचायत थाना शिवा के गांव कांढ़ी कलवाड़ा में आजादी के 70 साल बीत जाने के बाद भी अभी गांव सड़क सुविधा से वंचित हैं।  वहीं, तहसीलदार थुनाग शमशेर सिंह ने कहा कि हल्का पटवारी को मौके पर भेज दिया गया है और टीम नुकसान का आकलन कर रही है। प्रभावितों को दस-दस हजार रुपये की राहत राशि व कंबल व तिरपाल भी दिए। प्रभावितों की हर संभव सहायता की जाएगी।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: