Gurudwara पंजोखड़ा साहिब में बनेगा 7 CRORE से लंगर हाल

अंबाला। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी अमृतसर के प्रधान जत्थेदार प्रो.कृपाल सिंह बडूंगर ने कहा कि गुरबाणी और गुरु साहिबान की शिक्षाओं से जीवन को सफल बनाया जा सकता है। उन्होंने संगत से नितनेम करने कोआह्वान किया। वे ऐतिहासिक गुरुद्वारा पंजोखड़ा साहिब में संगत को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान जत्थेदार बडूंगर, बाबा जगतार सिंह तरणतारण वाले, बाबा कृपाल सिंह, बाबा हरदेव सिंह, एसजीपीसी वरिष्ठ उप प्रधान बलदेव सिंह कैमपुर, एसजीपीसी मेंबर जत्थेदार हरभजन सिंह मसाना, निरमैल सिंह जोला, गुरमीत सिंह तरलोकेवाला, धर्म प्रचार कमेटी सदस्य तजिंदरपाल सिंह ढिल्लो ने गुरुद्वारा साहिब में करीब 7 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले लंगर हॉल का नींव पत्थर भी रखा। इसके अलावा उन्होंने गुरुद्वारा साहिब में नवनिर्मित कम्प्यूटरकृत कड़ाह प्रसाद काउंटर का शुभारंभ किया । यह दोनों शुभ कार्य गुरु चरणों में अरदास के साथ किए गए।

  • एसजीपीसी प्रधान प्रो. बडूंगर ने रखा नींव पत्थर
  • करीब 2 साल की अवधि में तैयार होगा भवनambala

समागम में एसजीपीसी प्रधान जत्थेदार प्रो कृपाल सिंह बडूंगर ने संगत को दशमेश पिता साहिब-ए-कमाल गुरु गोबिंद सिंह जी महाराज के 350 साला प्रकाश उत्सव की बधाई दी। उन्होंने अपने संबोधन में संगत से गुरु साहिब की शिक्षाओं को जीवन में आत्मसात करने और उनके द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलने का आह्वान भी किया। उन्होंने बताया कि दो मंजिला बनने वाले इस लंगर हाल पर करीब 7 करोड़ रुपये की लागत खर्च होगी। उन्होंने बताया कि लंगर हाल का साइज 205 गुणा131 फीट होगा, जबकि इससे बनने वाली रसोई 75 गुणा100 फीट की होगी। लंगर हाल का निर्माण बाबा जगतार सिंह तरणतारण वाले करेंगे।

हरियाणा में धर्म प्रचार की लहर को बढ़ाएंगे
एसजीपीसी प्रधान जत्थेदार प्रो कृपाल सिंह बडूंगर ने कहा कि हरियाणा में धर्म प्रचार की लहर को बढ़ाया जाएगा। धर्म प्रचार कार्य करने के लिए एसजीपीसी ने कुरुक्षेत्र में सिख मिशन हरियाणा का कार्यालय भी बनाया गया है। नानकशाही कैलेंडर से संबंधित पूछे गए सवाल पर जत्थेदार बडूंगर ने कहा कि तिथियां मायने नहीं रखती, र्व का महत्व जरुरी है। पर्व मनाने का सार्थक परिणाम तभी सामने आ सकता हैं, जब लोग त्योहारों का इतिहास और उसकी महत्ता को समझते हुए गुरु साहिब की शिक्षाओं को जीवन में आत्मसात करें। हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि यह केस अभी सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है।

Comments