- Advertisement -

कांग्रेस के हारे नेताओं का छलका दर्द, रजनी पाटील के सामने रोया दुखड़ा

नेताओं ने अपनी हार का सबसे बड़ा कारण भीतरघात बताया

0

- Advertisement -

शिमला। बेशक विधानसभा चुनाव को छह माह का समय बीत चुका है। लेकिन, हारे हुए नेताओं के मन में भीतरघात की ठेस अभी भी बरकरार है। कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटील के समक्ष हारे हुए नेताओं ने अपना दुखड़ा रोया। आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में विधायक, पूर्व विधायक, हारे हुए नेता, महिला कांग्रेस, युवा कांग्रेस और एनएसयूआई के पदाधिकारियों के साथ प्रदेश प्रभारी ने अलग-अलग बैठकें कीं।

रजनी पाटील ने हारे हुए नेताओं से जाना कि उन्हें किस कारण हार का मुंह देखना पड़ा। जवाब में हारे हुए नेताओं ने भीतरघात को सबसे बड़ा कारण अपनी हार का बताया। यहीं नहीं एक गुट ने दूसरे गुट पर आरोप लगाया।

कौल सिंह के समर्थकों ने वीरभद्र सिंह गुट और वीरभद्र सिंह के समर्थकों ने कौल गुट पर हार का ठिकरा फोड़ा। पार्टी विरोधी प्रचार का आरोप लगाया। वहीं, कांग्रेस प्रभारी ने पूर्व मंत्रियों के हारने पर भी चिंता व्यक्त की। उन्होंने कांग्रेस नेताओं को पुरानी हार से सबक लेकर लोकसभा चुनाव में जुट जाने के लिए कहा।

- Advertisement -

%d bloggers like this: