- Advertisement -

Mahabodhi मंदिर के पास से दो जिंदा Bomb मिलने के मामले में तीन संदिग्ध धरे

0

- Advertisement -

नई दिल्ली। भगवान बुद्ध की नगरी बोधगया में दलाईलामा की सख्त सुरक्षा के बीच एक छोटे धमाके और दो जीवित बम मिलने के मामले में पुलिस ने तीन संदिग्ध गिरफ्तार किए हैं। बता दें कि बम मिलने से इस पवित्र स्थल पर लोगों में डर पैदा हो गया था। हालांकि, बिहार राज्य पुलिस ने इस संबंध में तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार, राष्ट्रीय जांच एजेंसी अब तीनों संदिग्धों से पूछताछ कर रही है। गौर रहे कि पिछले शुक्रवार देर रात को इस पवित्र स्थल पर बम मिलने के बाद एनआईए टीम मामले की जांच करने के लिए मौके पर पहुंची। राज्य पुलिस ने तिब्बती धर्मगुरु दलाईलामा के लिए सुरक्षा की व्यवस्था की थी। तिब्बती धर्मगुरु दलाईलामा यहां पर लगभग एक महीने तक रहेंगे और यहां पर वह दुनिया भर से एकत्रित हुए हजारों भक्तों को धार्मिक शिक्षाएं प्रदान कराएंगे।

रविवार को लेह और लद्दाख के अन्य हिस्सों में शांतिपूर्ण बंद का आह्वान

बिहार पुलिस ने बोधगया में महाबोधी मंदिर के पास एक छोटे धमाके और दो जीवित बम मिलने के मामले में तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है और अब सुरक्षा एजेंसियां उनसे पूछताछ कर रही हैं। हालांकि विस्फोट में किसी तरह का नुक्सान नहीं हुआ है फिर भी सुरक्षा एजेंसियां इस मुद्दे को गंभीरता से ले रही हैं। गौर रहे कि इस विस्फोट के दौरान तिब्बती आध्यात्मिक गुरु और बिहार राज्य के राज्यपाल के अलावा कई देशों के हजारों लोग वहां मौजूद थे। पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि कहीं इस बम धमाके का संबंध चीन से तो नहीं है। हालांकि पुलिस का मानना है कि तिब्बती गुरु दलाईलामा निशाने पर नहीं थे। मकसद केवल एक सार्वजनिक जगह पर आतंक पैदा करना था। वहीं, लद्दाख बौद्ध एसोसिएशन और सभी लद्दाख गोंझा एसोसिएशन ने भी बोधगया में हिंसक कृत्य की निंदा करते हुए रविवार को लेह और लद्दाख के अन्य हिस्सों में एक पूर्ण शांतिपूर्ण बंद का आह्वान किया है।

यह भी पढ़ें – निशाने पर धर्मगुरु Dalai Lama, महाबोधि मंदिर के पास से दो जिंदा बम बरामद

- Advertisement -

Leave A Reply