Advertisements

धर्माणी की दो टूक : भविष्यवक्ता न बने Rana, 18 December का करें इंतजार

0

- Advertisement -

कांग्रेस के आरोप पर बीजेपी का पलटवार, कहा सत्ता से बाहर होगी मौजूदा सरकार

शिमला। विधानसभा चुनाव के परिणाम आने में अभी एक सप्ताह का समय है, लेकिन कांग्रेस और बीजेपी के बीच वाक युद्ध जारी है। कांग्रेस और बीजेपी के नेता दोनों एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं। वहीं, कांग्रेस नेता और सुजानपुर सीट से पार्टी प्रत्याशी राजेंद्र राणा के बयान पर बीजेपी प्रवक्ता महेंद्र धर्माणी ने तीखी टिप्पणी की है। महेंद्र धर्माणी ने राजेंद्र राणा को सलाह दी कि वह भविष्यवाणियां करना बंद करे और संयम से 18 दिसंबर का इंतजार करे। उन्होंने कहा कि राजेन्द्र राणा अखबारों की सुर्खियों में बने रहने के लिए अपनी और पार्टी की हार सामने देखकर परेशान हैं, क्योंकि प्रदेश की जनता ने 9 नवंबर को कांग्रेस की कर्मचारी, व्यापारी, मजदूर और युवा विरोधी सरकार के खिलाफ मत देकर अपना निर्णय दे दिया है। उनका कहना था कि लोकतंत्र का तकाजा यही है कि राजेन्द्र राणा भविष्यवक्ता न बनकर निर्णय का इंतजार करे, क्योंकि 18 दिसंबर को प्रदेश की जनता राणा और कांग्रेस की भ्रष्ट सरकार को सत्ता से बेदखल कर देगी।

कर्मचारियों को नहीं मिला 4-9-14 का लाभ

महेंद्र धर्माणी ने राजेंद्र राणा द्वारा प्रदेश के कर्मचारियों के बारे में दिए गए बयान को हास्यास्पद करार दिया और कहा कि आज भी प्रदेश के हजारों कर्मचारियों को 4-9-14 का लाभ अभी तक नहीं मिला है। महेंद्र धर्माणी ने कांग्रेस नेता राजेंद्र के उन आरोपों को भी सिरे से नकारा, जिसमें उन्होंने सरकार पर तानाशाही का झूठा आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि राणा को शायद जानकारी नहीं है कि इस देश में तानाशाही का सबसे बड़ा नमूना 1975 में आपातकाल लगाकर उस समय की पीएम इंदिरा गांधी ने पेश किया था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में आज भी तानाशाही, सामंतवाद, राजशाही कूट-कूट कर भारी है, लेकिन देश और प्रदेश की जनता ने समय-समय पर इसका माकूल जवाब दिया है।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: