- Advertisement -

शिवरात्रि महोत्सवः देव आदि ब्रह्मा Mandi की सुरक्षा के लिए बांधी ’’कार’’

आटा फैंककर किया शहर का शुद्धिकरण, लोगों को दिया आशीर्वाद 

0

- Advertisement -

देवता के पुजारियों ने तलवारें लहकाकर किया दैवीय शक्तियों का आहवान

मंडी। शिवरात्रि महोत्सव के समापन से पहले देव आदि ब्रह्मा मंडी शहर को सुरक्षा कवच देकर गए। देवता ने इलाके की सुरक्षा का वचन देने के साथ ही खुशहाली और सुख-समृद्धि का भी वादा किया। बता दें कि देव आदि ब्रह्मा शिवरात्रि महोत्सव के समापन पर हर वर्ष पूरे मंडी शहर की परिक्रमा करते हैं। इस परिक्रमा के दौरान शहर की शुद्धि के लिए आटा फैंका जाता है। लोग इस आटे को अपने ऊपर गिरना सौभाग्य मानते हैं।

 

बुधवार को भी देव आदि ब्रह्मा ने पूरे मंडी शहर की परिक्रमा की और आटा फैंककर शहर की शुद्धि की। देवता द्वारा की जाने वाली इस पूरी परिक्रमा को स्थानीय भाषा में ’’कार बांधना’’ कहते हैं। इस दौरान हजारों की संख्या में लोग देवता के दर्शनों के लिए उमड़ते हैं और उनका आशीर्वाद प्राप्त करते हैं।  पूरे शहर की परिक्रमा करने के बाद देव आदि ब्रह्मा के पुजारी सेरी मंच के सामने धूप जलाकर और हाथों में तलवारें लहराकर दैवीय शक्तियों का आह्वान किया।

यहां तक की पुजारी ने अपनी जीभ को दो तलवारों के बीच रखकर दैविय शक्ति का प्रमाण भी दिया। इस पूरे मंजर को देखने के लिए सेरी मंच पर भारी जनसैलाब उमड़ा। देवता के साथ आए लोगों ने बताया कि मंडी शहर में शिवरात्रि के समापन पर कार बांधने की परंपरा सदियों से चली आ रही है और इस परंपरा को लगातार जारी रखा हुआ है।

देवता पूरे मंडी शहर को सुरक्षा कवच देने के साथ ही खुशहाली का आशीर्वाद भी देते हैं। बता दें कि देव आदि ब्रह्मा मंडी जिला के इलाका उत्तरशाल के टिहरी गांव में निवास करते हैं। यहां पर देवता का प्राचीन मंदिर है। देवता का शिवरात्रि महोत्सव में विशेष स्थान है इसलिए यह हर वर्ष भाग लेने यहां आते हैं।

- Advertisement -

%d bloggers like this: