- Advertisement -

एमसी धर्मशाला दूर करेगा बेरोजगारों की रोजगार की चिंता

0

- Advertisement -

धर्मशाला। ग्रामीण परिवेश से नगर निगम धर्मशाला में शामिल हुए बेरोजगारों की रोजगार की चिंता दूर होने जा रही है। इसी माह से नगर निगम धर्मशाला में लाल बहादुर शास्त्री कामगार एवं शहरी आजीविका योजना (लक्ष्य) अगस्त माह से शुरू की जा रही है। लक्ष्य योजना के तहत नगर निगम में शामिल हुए लोग, जोकि ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा के तहत कार्य करते थे, उन्हें रोजगार उपलब्ध करवाया जाएगा। मनरेगा के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में जहां 120 दिन का रोजगार दिया जाता है, वहीं, लक्ष्य योजना में 265 दिन का रोजगार बेरोजगारों को मिलेगा। यही नहीं लक्ष्य योजना के तहत स्वीकृत बजट खर्च का अनुपात भी 70:30 का रहेगा, यानी 70 फीसदी बजट लेबर पर व 30 फीसदी बजट निर्माण सामग्री पर व्यय करने का प्रावधान होगा। जबकि, मनरेगा में बजट खर्च करने का अनुपात 60:40 का है। मनरेगा में जहां बेरोजगारों को पंचायत में अपना पंजीकरण करवाना पड़ता है, वहीं शहरी क्षेत्र में शामिल ग्रामीण क्षेत्रों के बेरोजगारों को लक्ष्य योजना के तहत रोजगार के लिए नगर निगम में अपना पंजीकरण करवाना होगा।

mc-dslनगर निगम धर्मशाला के डिप्टी मेयर देवेंद्र जग्गी ने बताया कि शहरी क्षेत्र में शामिल ग्रामीण बेरोजगारों के लिए मनरेगा की तर्ज पर लक्ष्य योजना शुरू की जा रही है, जो कि अगस्त माह से शुरू होगी। उन्होंने बताया कि लक्ष्य योजना के तहत पंजीकृत बेरोजगारों को 265 दिन का रोजगार मिलेगा तथा इसके बजट खर्च का अुनपात 70:30  रहेगा। लक्ष्य योजना के तहत रोजगार के लिए नगर निगम में शामिल हुए पंचायतों के लोगों को नगर निगम में अपना पंजीकरण करवाना होगा।

- Advertisement -

%d bloggers like this: