Miss india खादी फर्स्ट रनर अप बोलीं, खादी For nation के लिए युवाओं को प्रेरित करना लक्ष्य

0

दयाराम कश्यप / सोलन। खादी के कपड़ों को फैशन स्टेटमेंट के रूप में युवाओं को खादी फॉर नेशन के लिए प्रेरित करना लक्ष्य है, क्योंकि खादी के आभूषण व परिधान आज भी अपना महत्व बनाए हुए हैं। यह बात मिस इंडिया खादी की फर्स्ट रनर अप गुरलीन मधोक ने कहे। हाल में ही आयोजित हुई मिस खादी प्रतियोगिता में गुरलीन मधोक प्रथम रनर अप व ब्यूटी विद पर्पज का ख़िताब हासिल किया है। यह प्रतियोगिता खादी थीम- मिस इंडिया खादी पर आधारित थी। उल्लेखनीय है कि यह कार्यक्रम पीएम नरेंद्र मोदी के खादी मिशन के तहत एमएसएमई और खादी बोर्ड द्वारा आयोजित किया गया था, जिसका टाइटल खादी फॉर नेशन-खादी फॉर फैशन था।  इसका उद्देश्य भारत के हाथ से बने कपड़े खादी को एक फैशन स्टेटमेंट के रूप में लोकप्रिय बनाना है।

हिमाचल का किया प्रतिनिधित्व

हाथ से बने खादी के कपड़ों को फैशन स्टेटमेंट के रूप में पोपुलर करने के लिए इस कोंटेस्ट में 22 राज्यों की 200 से ज्यादा विवि की अस्सी हजार लड़कियों से इस टाइटल को पाने के लिए ऑडिशन दिया था। मोहाली निवासी गुरलीन ने चितकारा विवि बद्दी से सौ लड़कियों के साथ जुलाई में ऑडिशन दिया था और 30 जुलाई को मिस इंडिया हिमाचल स्टेट विनर बनने के बाद ग्रेंड फिनाले के लिए बुलाया गया। उसके आगे के कांटेस्ट के लिए चंडीगढ़ के प्रसिद्ध प्रोफेशनल विज्ञापन और मॉडलिंग एजेंसी एसएमसी बिज के जाने माने फैशन फोटोग्राफर, ग्रूमिंग एक्सपर्ट व पेजेंट डायरेक्टर सुनील बंसल ने इस प्रतियोगिता के लिए गुरलीन को प्रशिक्षित किया।

हिमाचल सरकार दें सम्मान 

हिमाचल विनर बनकर मिस इंडिया की फर्स्ट रनर अप बनकर पीएम मोदी के खादी को प्रोत्साहन देने वाले अभियान को देश में बूस्ट कर रही है। चितकारा विवि राजपुरा के रजिस्ट्रार डॉ. एससी शर्मा व चंडीगढ़ के प्रसिद्ध प्रोफेशनल विज्ञापन और मॉडलिंग एजेंसी एसएमसी बिज के फैशन फोटोग्राफर, ग्रूमिंग एक्सपर्ट व पेजेंट डायरेक्टर सुनील बंसल का कहना है कि गुरलीन ने हिमाचल को रिप्रेजेंट किया है और राष्ट्र स्तर पर प्रदेश का नाम रोशन किया है। पीएम के अभियान को साकार करने के लिए हिमाचल सरकार को गुरलीन को सम्मानित करना चाहिए।

Champion का Welcome: कुल्लू पहुंची International पदक विजेता आंचल को पलकों पर बिठाया

स्वच्छता का संदेशः पांवटा को चकाचक करने निकले स्वयंसेवी और अधिकारी

You might also like More from author

Leave A Reply