Snowfall के बाद जनता त्रस्त और CM के लिए बनाया जा रहा ट्रैक

हमीरपुर। भारी बर्फबारी के कारण राजधानी शिमला की मौजूदा हालत में शहर और उसके आसपास के लोग पानी और बिजली जैसी बुनियादी सुविधाओं के लिए बुरी तरह से तरस रहे हैं।  सड़क से पहुंच भी इतनी बुरी तरह से प्रभावित है कि एम्बुलेंस को मरीजों तक पहुंचने में कठिनाई आ रही है। लेकिन, इतनी मुश्किल परिस्थिति के बावजूद सीएम और उनका परिवार अपनी आय से अधिक संपत्ति केस के बचाव के लिए दिल्ली पहुंचने में सफल हो गए। एक खास 6 किलोमीटर लंबा ट्रैक बनाया गया था, ताकि वे हेलिकॉप्टर तक पहुंच सकें जो फिर उन्हें लेकर दिल्ली के लिए रवाना हो गया। यह देखना दुर्भाग्यपूर्ण है कि सरकारी संसाधन सीएम के भ्रष्टाचार मामलों को छिपाने के लिए बर्बाद किए जा रहे हैं। यह बात सांसद अनुराग ठाकुर ने यहां जारी एक प्रेस में कही। उन्होंने कहा कि अगर राज्य के सीएम अपने ही भ्रष्टाचार से जुड़े कोर्ट मामलों में व्यस्त रहेंगे, तो वे अपनी जनता की देखभाल किस तरह से करेंगे और उनके हितों की रक्षा कैसे करेंगे। कांग्रेस सरकार पर बुरी तरह से बरसते हुए अनुराग ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस सरकार आम आदमी के हितों की रक्षा करने में बुरी तरह से नाकामयाब हुई है।

  • virदिल्ली पहुंच सके सीएम व उनका परिवार, इसलिए बनाया 6 किलोमीटर लंबा ट्रैक
  • अनुराग बोले, सरकारी संसाधन सीएम के भ्रष्टाचार मामलों को छिपाने को हो रहे बर्बाद

राजधानी एक गंभीर समस्या से गुजर रहा है, जिसमें निवासी पिछले पांच दिनों से पानी और बिजली की अनुपलब्धता की समस्या से खु़द निपटने के लिए मजबूर हैं। जहां एक तरफ सीएम ने बड़े-बड़े वादे किए थे कि इस समस्या को जल्द से जल्द निपटाया जाएगा, वहीं पानी और बिजली विभाग ने यह जानकारी दी है कि सप्लाई सिर्फ 13 जनवरी से ही उपलब्ध कराई जाएगी। इसका मतलब यह हुआ कि लोगों को और लंबे वक्त के लिए परेशानी झेलनी पड़ेगी।  मौजूदा हालत का बुरा असर पर्यटन पर दिखाई दे रहा है। इस शहर में एक बड़ी तादाद में सैलानी बर्फबारी देखने के लिए आते हैं, लेकिन शहर की सामान्य हालत की बहाली में सरकार के बेकार प्रबंध के कारण ज्यादातर सैलानी एक कडवा तजुर्बा लेकर वापस गए हैं। कांग्रेस सरकार का यह गैर जिम्मेदार रवैया हमेशा से बना हुआ है।

जब शहर में पीलिया फैला था, जिसके कारण हजारों लोग प्रभावित हुए थे और जिसकी वजह से कई लोगों की जानें भी गई थीं, उस वक्त सरकार ने चुप्पी साधी हुई थी और उन अपराधियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की थी, जो इस महामारी की असली वजह थे।

You might also like More from author

Comments are closed.