जहां महिलाओं के सामने अश्लील गालियां देते हैं लोग, नहीं मानता कोई बुरा

0

जंजैहली हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला में एक क्षेत्र ऐसा भी है जहां महिलाओं के सामने अश्लील गालियां दी जाती है। गौर करने वाली बात यह है कि इन गालियों का कोई बूरा भी नहीं मानता बल्कि इसे शुभ मानते हैं। मान्यता है कि ऐसा करने से बुरी ताकतें दूर भागती है। यह प्रथा उपमंडल जंजैहली की ग्रांम पंचायत थानाशिवा के सुवली में हर वर्ष मनाई जाती है। क्षेत्र में मनाए जाने वाले कीचड़ उत्सव के दौरान गालियां देने की प्रथा है यहां के लोग इसे हूम उत्सव कहते हैं लेकिन विदेशों में इसे मड फेस्टीवल के रूप में खेला जाता है। इस दौरान युवा एक दूसरे पर कीचड़ उछालते हैं और हंसते हंसते एक दूसरे को अश्लील गालियां भी देते हैं। हैरानीजनक बात तो यह है कि इस उत्सव को देखने और सुनने के लिए औरतें व स्कूली छात्राए भी पहुंचती हैं और वे अश्लील गालियों को सुनकर आनंदित होती है।

जमीन में गाढ़ा जाता है देवदार का पेड़

इस दौरान दर्जनों लोग एक हरे भरे देवदार के पेड़ को जंगल से उठाकर लाते हैं और फिर उसे जमीन में गाढ़ दिया जाता है। श्रद्धालुओं से मिली जानकारी के अनुसार यह पेड़ 2 किलोमीटर दूर से लाया जाता है जिसका सिर जरा सा भी टूटना नहीं चाहिए। अगर गलती से यह सिर टूट जाता है तो फिर दूसरा पेड़ लाना पड़ता है

पेड़ जमीन पर गाढ़ने के बाद श्रद्धालू लोग एक दूसरे को पकड़कर तांगली लगाते है और अभद्र भाषा का प्रयोग करते है जिसे अति शुभ माना जाता है। इस कीचड़ उत्सव को मनाने के लिए एक बड़ा सा तालाब बनाया जाता है जिसमें पहले से ही चिकनी मिट्टी होती है फिर उसे खेलने के लिए पानी सहित मिलाया जाता है।

आफतः सड़क पर कीचड़, पीठ पर सेब की फसल ढो रहे बागवान

You might also like More from author

Leave A Reply