- Advertisement -

जवाब दें, हिसाब दें BJP सांसद : 63 NH पर कितना Budget आया, कब की थी Deadline

ऊना में पत्रकार वार्ता के दौरान CLP लीडर मुकेश अग्निहोत्री ने पूछा सवाल

0

- Advertisement -

ऊना। कांग्रेस ने ऊना से जवाब दे सांसद, हिसाब दे सांसद अभियान शुरू कर दिया है। सीएलपी लीडर मुकेश अग्निहोत्री ने प्रदेश के सभी सांसदों पर एक के बाद एक कई सवाल दागे हैं। मुकेश ने ऊना में पत्रकारवार्ता कर कहा कि बीजेपी सांसदों ने श्रेय लेने के चक्कर में यूपीए सरकार द्वारा हिमाचल को मिली सौगातों में रोड़े अटकाने के अलावा कोई काम नहीं किया। मुकेश ने कहा कि हमने भी विधानसभा चुनावों में जवाब दिया है और अगर अब सांसदों से हिसाब मांगा जा रहा है, तो सांसद विचलित क्यों हो रहे हैं। मुकेश ने कहा कि बीजेपी के सांसद बजट में भी हिमाचल के हितों की पैरवी करने में नाकाम रहे है। मुकेश ने कहा कि कांग्रेस पीछे नहीं हटेगी, बल्कि सांसद से हिसाब मांगने के अभियान को जन-जन तक पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनावों के चलते 63- एनएच का शोर डाला गया, मेरा सवाल ये है कि सांसद बताएं कि इनके लिए कितना बजट और कब की डेडलाइन तय की गई हैं। उन्होंने कहा कि बिलासपुर के सलोह की ट्रिप्पल आईटी का शिलान्यास पीएम ने किया, पर सांसद बताएं कि इसकी ट्रेंडर प्रक्रिया कहां तक पहुंची हैं।

स्वां तटीयकरण प्रोजेक्ट का पैसा क्यों रोका

अग्रिहोत्री ने कहा कि यूपीए सरकार में 922 करोड़ रुपए के स्वां तटीयकरण प्रोजेक्ट को जिला ऊना में शुरू करवाया था। सरकार बदलने के बाद मोदी सरकार ने भी कुछ पैसा रिलीज किया, लेकिन सांसदों ने जानबुझ कर जिला की लाइफ लाइन स्वां का पैसा रोकने का काम अढ़ाई साल से किया है। ये किसने किया है, प्रदेश की जनता भली भांति जानती है। मुकेश ने कहा कि हम ही नहीं, बल्कि जिला की जनता भी इसका हिसाब मांगेगी। उन्होंने कहा कि आम बजट में हिमाचल में हितों की पैरवी सरकार व सांसद नहीं कर पाए, जिसके तहत सरकार को कोई बेलआऊट पैकेज नहीं ले पाए।

- Advertisement -

Leave A Reply