महासंघ CM से करेगा आग्रह, जल्द बुलाई जाए JCC की बैठक

0

मंडी। नई सरकार के गठन के साथ ही अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ सुरेंद्र गुट वर्किंग मोड में आ गया है। महासंघ ने सचिवालय स्थित कार्यालय से कार्य शुरू कर दिया है, अब भविष्य की रणनीति भी तैयार कर ली है। जल्द ही एक राज्य स्तरीय सम्मेलन आयोजित करवाए जाने का ऐलान किया है। इस सम्मेलन में प्रदेश के 80 विभागीय संगठनों तथा जिला इकाइयों के पदाधिकारियों के सहयोग से एक सांझा मांगपत्र तैयार करके सीएम को सौंपा जाएगा।

साथ ही संयुक्त सलाहकार समिति की बैठक बुलाने के लिए भी सीएम से आग्रह करने का निर्णय लिया है। महासंघ के प्रदेश महामंत्री एनआर ठाकुर ने कहा कि वीरभद्र सरकार ने प्रजातांत्रिक तरीके से चुने गए महासंघ के प्रतिनिधियों को मान्यता न देकर अपनी पसंद के कुछ स्वयंभू नेताओं को बिना चुनाव करवाए ही मान्यता दे डाली थी, जिससे प्रदेश के कर्मचारियों का पांच वर्ष तक भारी नुकसान झेलना पड़ा।

ये स्वयंभू नेता न तो सरकार से संयुक्त सलाहकार समिति की बैठकें ही करवा पाए और न ही  कर्मचारियों की मांगों को मनवा पाए। केवल पांच सालों में एक संयुक्त सलाहकार समिति की बैठक हुई और वह भी बेनतीजा साबित हुई। एनआर ठाकुर ने कहा कि सुरेंद्र ठाकुर की अध्यक्षता में महासंघ अपना कार्य बेहतर तरीके से चलाएगा तथा वर्षों से लटके कर्मचारियों के मुद्दों को प्रमुखता से सीएम के समक्ष उठाएगा। 

प्रदेश के कर्मचारियों को भयमुक्त वातावरण देगा महासंघ

महासंघ अपना कार्यकाल समाप्त होते ही खंड स्तर से राज्य स्तर तक चुनाव करवाकर नई कार्यकारिणी गठित करेगा। एनआर ठाकुर ने कहा कि महासंघ प्रदेश के कर्मचारियों को भयमुक्त वातावरण देगा और किसी के साथ द्वेष व बदले की भावना से काम नहीं होगा। महासंघ का प्रयास रहेगा की प्रदेश में कार्य संस्कृति को बढ़ावा मिले और सभी कर्मचारी ईमानदारी से काम करते हुए प्रदेश को विकास की नई ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए सरकार को सहयोग करें।

महासंघ सीएम व प्रदेश के कर्मचारियों के बीच बेहतर तालमेल बिठाकर कर्मचारियों और मजदूरों के प्रमुख मुद्दों को सुलझाने का प्रयास करेगा। उन्होंने कहा कि महासंघ एक-दो दिनों में कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के दौरान चार्जशीट, निलंबन, कारण बताओ नोटिस और तबादलों का दंश झेल रहे कर्मचारी नेताओं की सूची सीएम को सौंपेगा, ताकि पिछली सरकार द्वारा की गई ज्यादतियों से कर्मचारी नेताओं को निजात दिलाई जा सके।

You might also like More from author

Leave A Reply