Advertisements

एक तो सूखी ठंड; ऊपर से बारिश का लंबा इंतजार, मायूस हुए किसान-बागवान

0

- Advertisement -

हमीरपुर में बारिश न होने से लटकी गेहूं की बिजाई, अस्पतालों में बढ़ रहे मरीज

हमीरपुर। जिला में कई दिनों से बारिश का इंतजार कर रहे किसान-बागबानों को फसल की चिंता सता रही है। बारिश न होने से सूखी ठंड ने भी जोर पकड़ लिया है, जिससे लोगों को भी सर्दी, जुखाम और बुखार से जूझना पड़ रहा है। कुल मिलाकर मौसम की मार से किसान से लेकर आम आदमी भी परेशानी है। गौरतलब है कि जिला में ज्यादातर किसान गेहूं की खेती करते हैं। गेहूं की बिजाई के लिए 15 नवंबर तक समय बहुत ही अनुकूल रहता है, लेकिन बारिश न होने के चलते किसान की मेहनत पर पानी फिरता नजर आ रहा है। अधिकांश किसानों ने खेतों की बिजाई के लिए बीज व खाद खरीद कर रख ली है।

आसमान में बादल तो छाए हैं, परंतु बारिश की फुहारें न गिरने से किसान वर्ग बहुत ही चिंतित है। हालांकि जिला भर के हिस्सों में बारिश की कुछ बूंदें तो पड़ी, लेकिन इन बूंदों से जमीन की परत भी गिली नहीं हो पाई है। किसान अमित कुमार और विजय कुमार ने बताया कि अगर समय रहते बारिश न हुई तो ऐसे में खेतों की बिजाई व भारी भरकम खर्च कर खरीदा गया बीज खेतों के सूखने से खराब हो जाएगा। बारिश न होने से खेत पूरी तरह से सूखे पड़े हैं। अगर जल्द बारिश न हुई तो दोबारा से बिजाई करनी पड़ सकती है। उन्होंने कहा कि बारिश की कमी के चलते गत साल भी फसल कम हुई थी और उन्हें काफी नुकसान हुआ था। वहीं सूखी ठंड और बारिश न होने से अस्पताल में भी मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। शुष्क मौसम से लोगों को जुखाम, बुखार व गले की बीमारी हो रही है। क्षेत्रीय अस्तपाल हमीरपुर में तैनात डॉक्टर पुष्पेन्द्र वर्मा ने बताया कि सर्दियों के मौसम में ज्यातर बच्चों और बुर्जुगों में खांसी, जुखाम, बुखार आदि के रोग होते हैं। उन्होंने कहा कि ठंड में एहतियात बरतनी चाहिए ।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: