स्वाद में खट्टा कुल्फा का साग सेहत के लिए भी फायदेमंद

0

- Advertisement -

पत्तेदार सब्जियों में कुल्फा का अलग ही महत्व है। यह अपने आप उगने वाला साग है, जो खेतों की मेड़ों पर या फिर फसलों के साथ ही उग आता है। ज्यादातर लोग इसे स्वाद के कारण पसंद करते हैं क्योंकि इसमें अच्छी खटास होती है। अपने औषधीय प्रभाव में कुल्फा सर्वोपरि है। इसे इसके नमकीन स्वाद के अनुसार लोणी भी कहते हैं। यह भारत में लगभग सभी राज्यों में पाई जाती है। हालांकि इसके पौधे उत्तर भारत के पर्वतीय क्षेत्रों में अधिकतर मिलते हैं।
कुल्फा के पौधों की लम्बाई 10-12 सेमी. तक होती है और हरे पत्ते 3-4 मिलीमीटर तक मोटे रस भरे और स्वाद में खट्टे-नमकीन होते हैं। यह आयुर्वेद में बहुउपयोगी औषधि मानी गई है। हाल के शोध में भी कुल्फा कैंसर जैसे घातक बीमारी के इलाज करने में भी सफल कही गई है। लोणी का पौधा घरों के आसपास, जंगलों, सड़क के किनारों और बंजर जगहों पर आसानी से उग जाता है। यह उखाड़ने पर भी पूर्ण रूप से नष्ट नहीं होता। इसकी जड़ कई साल तक जमीन के अन्दर जीवित रहती है और समय अनुसार पानी, पोषण मिलने पर पौध रूप में बाहर निकल आती है। इसका उपयोग सब्जी, सलाद, पौष्टिक पेय और औषधि  के रूप में होता है।
कुल्फा में मुख्य रूप से ओमेगा-3, फैटी एसिड़, विटामिन ए, बी, सी, ई, मल्टी विटामिन 44% RDA, बीटा कैरोटीन, मैग्नीशियम, कैल्शियम, ऑयरन, लिथियम, फाइबर, मैंग्नीज, पोटेशियम, कॉपर, राइबोफ्लैविना, निसासिन और पाइरोडॉक्सिन एक साथ मौजूद हैं। लोणी रिच एंटीबायोटिक, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीवायरल, एंटीसेप्टिक, एंटीफंगल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों का एक साथ मिश्रण है। कुल्फा के 2-3 पत्ते रोज खाना ही मात्र सम्पूर्ण रोगों का नाशक माना जाता है। यह बहुमूल्य अमृत औषधि रूप है। कुल्फा के पत्ते और बीज सभी फायदेमंद हैं।  घाव के चारों तरफ लगाने से सूजन, पस, जख्म से जल्दी छुटकारा मिलता है।
हाई ब्लडप्रेशर रहने पर नित्य सुबह कुल्फा के 3-4 पत्ते चबाना लाभदायक रहता है। इसके पत्तों  का साग व सलाद  के तौर पर सेवन करना चाहिए। लोणी पत्ते का सेवन रक्त धमनियों को सुचारू रखता है। तेजी से वजन घटाने के लिए कुल्फा के काले बीज गुनगुने पानी के साथ सेवन करना फायदेमंद है। लोणी बीज शरीर से अतिरिक्त वसा हटाने एवं कैलोरी बर्न करने में सहायक है। शीघ्र वजन घटाने के लिए 7-8 लोणी बीज गुनगुने पानी के साथ सेवन के बाद एक्सरसाइज कर सकते हैं।

- Advertisement -

Leave A Reply