Pushpendra Rajput @ विधानसभा चुनाव में 50 हजार कर्मचारी संभालेंगे मोर्चा

0

लोकिन्दर बेक्टा/ शिमला। मुख्य निर्वाचन अधिकारी पुष्पेंद्र राजपूत ने कहा है कि प्रदेश में चुनाव को लेकर आयोग ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव में कुल करीब 50 हजार कर्मचारी सेवाएं देंगे। इनमें 38 हजार पोलिंग स्टेशन पर होंगे। इसके अलावा केंद्रीय पुलिस बल की 75 कंपनियां मंगवाई जाएगी। हर पोलिंग बूथ पर दो वॉलंटियर रहेंगे जो मतदाताओं की मदद करेंगे। उनका कहना था कि मतदान से एक सप्ताह पहले फोटो वोटर नंबर की स्लिप मतदाता को मिलनी शुरू हो जाएगी।

  • किन्नौर के पोलिंग बूथ में सबसे कम 6 मतदाता
  • सोलन के पोलिंग बूथ 72 में सबसे अधिक मतदाता
  • बूथ पर मतदाताओं की मदद करेंगे 2 वॉलंटियर

इस चुनाव में पहली बार वीवीपैट का इस्तेमाल होगा और इसके लिए जागरूकता अभियान तेजी से चल रहा है। राजपूत ने कहा कि प्रदेश में कुल 7521 मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इन मतदान केंद्रों में 49, 13, 888 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। यह सूची 15 सितंबर की है। इसके बाद 78 हजार और आवेदन आए हैं। ऐसे में मतदाताओं की संख्या और बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि वोट डालने के लिए वोटर पहचान पत्र लाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि उम्मीदवारों की सुविधा के लिए सुविधा साफ्टवेयर बनाया है और इसके माध्यम से उम्मीदवार या पार्टी इजाजत को अप्लाई करने के साथ ही इजाजत भी देगी। उनका कहना था कि वेबकास्टिंग से पूरी पारदर्शिता से काम होगा।

कानून व्यवस्था बनाए रखने को पुलिस अफसरों से की गई वीडियो कांफ्रेंसिंग

राजपूत ने कहा कि राज्य में 51 क्रिटिकल पोलिंग  स्टेशन हैं और इनकी वेब कास्टिंग की जाएगी। उन्होंने कहा कि ऐसे पोलिंग स्टेशन पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात होगा। राजपूत ने कहा कि राज्य में सबसे कम 6 मतदाता किन्नौर के का पोलिंग स्टेशन पर हैं, जबकि अधिकतम सोलन के 72  पोलिंग  स्टेशन में 1889 मतदाता हैं। इसके अलावा हिक्किम सर्वाधिक ऊंचाई पर स्थापित मतदान केंद्र है और वहां 46  मतदाता हैं। उनका कहना था कि राज्य में लाहौल स्पीति में सबसे कम 22849 मतदाता हैं, जबकि सबसे ज्यादा मतदाता कसौली सीट में 92753 मतदाता हैं। उनका कहना था कि राज्य 68  सीटों में से 17 एससी और 3 एसटी के लिए आरक्षित रहेगी।

उन्होंने कहा कि आयोग के पास एमसीसी के उल्लंघन की कोई शिकायत नहीं आई है। उन्होंने कहा कि दिव्यांग मतदाताओं की सुविधा को एक व्हील चेयर हर मतदान केंद्र पर रहेगी, पांच सौ व्हील चेयर का आर्डर दिया गया है। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने और पड़ोसी राज्यों से शराब की तस्करी रोकने को पड़ोसी राज्यों के पुलिस अफसरों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग की गई है। सुरक्षा को लेकर पूरे प्रबंध किए गए हैं।

चुनावी शंखनादः सामाजिक संगठनों ने तैयार किया Agenda

You might also like More from author

Leave A Reply