Advertisements

रजनी पाटील ने माना, कांग्रेस में गुटबाजी, सुक्खू से संतुष्ट नहीं वीरभद्र

rajni patil has acknowledged factionalism in himachal congress at shimla

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल कांग्रेस प्रभारी बनने के बाद अपने पहले दौरे पर हिमाचल आईं रजनी पाटील ने हिमाचल कांग्रेस में गुटबाजी की बात को माना है। यहां मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस में अभी भी गुटबाजी है। पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू से संतुष्ट नहीं हैं। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता हैं और उनकी फीडबैक को हाईकमान तक पहुंचाया जाएगा। रजनी पाटिल ने कहा कि संगठन में बदलाव और प्रदेश अध्यक्ष को बदलने का फैसला पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी लेंगे। फिलहाल अभी ऐसी कोई सूचना नहीं हैं। 

रजनी पाटील ने कहा कि वीरभद्र सिंह को पार्टी मुख्यालय आने के लिए उन्होंने इनकार किया था और वे उनके घर जाकर मिलीं। पाटील ने कहा कि वीरभद्र सिंह पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेता होने के नाते उनकी भूमिका भी काफी महत्वपूर्ण रहेगी। बता दें कि हिमाचल कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटील का यह बयान पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के साथ मुलाकात करने के बाद आया है। ऐसे में यह लाजिमी है कि रजनी पाटील और वीरभद्र सिंह मुलाकात में इस विषय पर चर्चा हुई है। वीरभद्र सिंह ने अपनी आपत्तियां हिमाचल प्रभारी के समक्ष उठाईं हैं।

रजनी पाटील ने पिछले कल ही कहा था कि पार्टी नेताओं में मतभेद बेशक हों, लेकिन मनभेद नहीं होने चाहिए और सभी वरिष्ठ नेताओं से बात कर उन्हें प्लेटफार्म पर लाया जाएगा। इसी कड़ी में रजनी पाटील कल कांग्रेस की सीनियर लीडर विद्या स्टोक्स से मिलीं और आज उन्होंने पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह से उनके आवास में मुलाकात की।

वीरभद्र सिंह से मुलाकात के बाद रजनी पाटील के आए इस बयान से एक बात तो साफ हो गई है कि कहीं न कहीं पार्टी नेताओं में मतभेद के साथ मनभेद भी हैं। इसी के चलते उन्होंने पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की बात हाईकमान तक पहुंचाने की बात कही है।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: