- Advertisement -

2 आतंकियों को ढेर करने वाला Una के सपूत को सेना मेडल

0

- Advertisement -

सुनैना जसवाल/ दौलतपुर चौक। रायपुर गांव के वीर सपूत राकेश कुमार को सेना मेडल से नवाजा गया है। राकेश ने अपने अदम्य साहस का परिचय देते हुए दो आतंकियों को ढेर कर दिया। सेना द्वारा ईस्टर्न कमांड कोलकाता में सिपाही राकेश कुमार को सेना मैडल से सम्मानित किया गया है। राकेश को मिले सम्मान से न केवल परिजनों और गांव बल्कि समूचे ऊना जिले का नाम देश भर में रोशन हुआ है। 22 जून, 2007 में डोगरा रेजिमेंट में सिपाही पद पर भर्ती हुए राकेश कुमार बचपन से ही सेना में जाने के इरादा रखते थे। गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के शोपियां में 7 अप्रैल, 2016 हुए एनकाउंटर के दौरान राकेश कुमार भारतीय सेना की टीम का हिस्सा थे। जिस घर में आंतकवादी छुपे हुए थे उस घर को राकेश कुमार और साथी सैनिकों ने घेर लिया था। इसी दौरान राकेश कुमार ने अपनी जान की परवाह न करते हुए घर में घुस कर दो आतंकवादी को मार गिराने में कामयाबी हासिल की। इसके लिए सेना द्वारा 26 जनवरी, 2017 को राकेश कुमार को सेना मेडल देने की अप्रूवल दी गई थी। 21 सितंबर, 2017 को ईस्टर्न कमांड कोलकाता में आयोजित एक भव्य कार्यक्रम के दौरान कमाडेंट द्वारा राकेश कुमार को सेना मेडल से नवाजा गया।

कोकराझार में तैनात है राकेश कुमार

काबिलेगौर है कि राकेश कुमार की आरंभिक शिक्षा रायपुर के सरकारी स्कूल से हुई है। वर्तमान में राकेश कुमार असम के कोकराझार में बतौर सिपाही तैनात हैं। पिता बालकृष्ण का स्वर्गवास हो चुका है और घर में माता चंचल देवी एक भाई और दो बहनें हैं। राकेश कुमार को सेना मेडल से नवाजे जाने से पूरे क्षेत्र में जश्न का माहौल है। राकेश कुमार की माता चंचल देवी कहा कि उन्हें अपने बेटे पर बहुत गर्व है। उन्होंने उम्मीद जताई कि राकेश भविष्य में भी इसी बहादुरी से भारत माता की सेवा और रक्षा करता रहेगा। उन्होंने अपने बेटे को मेडल मिलने पर खुशी जताई और उसके उज्जवल भविष्य की कामना की है। 

- Advertisement -

%d bloggers like this: