Sahara Diary केस : PM के खिलाफ जांच नहीं

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने दो कारोबारी घरानों से पैसे लेने के आरोपों पर नरेंद्र मोदी और दूसरे नेताओं के खिलाफ एसआईटी जांच की मांग खारिज कर दी। कोर्ट ने कहा कि इनकम टैक्स सैटेलमेंट कमीशन ने भी शुरुआती जांच में पाया था कि सहारा के यहां से जो मेटेरियल पाया गया है वो बनावटी है। बता दें कि कुछ दिन पहले राहुल गांधी ने मोदी का नाम इस डायरी में होने के आरोप लगाए थे। मोदी के अलावा कुछ और नेताओं के नाम होने के भी आरोप लगे थे।

  • सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की प्रशांत भूषण की याचिकाmodi

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस तरह के आरोप लगाने के लिए कुछ पुख्ता सबूत होना भी जरूरी है। एक एनजीओ के जरिए प्रशांत भूषण ने इस मामले में पिटीशन दायर की थी। 17 दिसंबर को भी सहारा-बिरला डायरी मामले की पिटीशन पर सुनवाई हुई थी। तब जस्टिस जेएस खेहर ने पिटीशनर प्रशांत भूषण से पूछा था कि आपने जिन ठोस सबूतों को कोर्ट में पेश करने का दावा किया था, वो कहां हैं। इस पर प्रशांत भूषण ने कहा था कि उन्हें आयकर विभाग से तीन तरह के डॉक्यूमेंट्स मिले हैं, जिसमें उन्होंने दो तरह के पढ़ लिए हैं और एक को पढ़ा जाना बाकी है। उन्होंने और वक्त दिए जाने की मांग की थी। इस पर कोर्ट ने कहा था कि आपको पहले ही काफी वक्त दिया जा चुका है। अगर आप ठोस सबूत नहीं दे सकते तो आपकी पिटीशन को खारिज कर दिया जाएगा। राहुल ने पिछले महीने गुजरात के मेहसाणा में रैली के दौरान कहा था कि सहारा ने बीते 6 महीने में मोदी को 9 बार पैसे दिए। सहारा के यहां रेड पड़ी थी। वहां से बरामद हुए रिकॉर्ड में इसका जिक्र था।

Comments