Advertisements

दुनिया का सबसे बड़ा आर्टवर्क बोलीविया की साज्मा रेखाएं 

0

- Advertisement -

लंबी चौड़ी और एक बहुत बड़े क्षेत्रफल में रेखाओं का ऐसा अंकन जो सिर्फ जहाज के जरिए ही समग्र रूप से देखा जा सकता हो अपने आप में अजूबा हैं। ये क्यों बनाई गईं और इनका क्या उपयोग था इसका आज तक अंदाजा नहीं लगाया जा सका। ऐसी रेखाओं में नाज्का रेखाओं ने बहुत लोकप्रियता हासिल की है पर ये उनसे कहीं पंद्रह गुना बड़ी हैं। अगर विश्व के सबसे बड़े आर्टवर्क की बात करें तो यह हमें  बोलीविया के एक रिमोट एरिया में मिलता है। बोलिविया दक्षिणी अमरीका का एक देश है और यहां पर नौ राज्य हैं। वहां के सबसे ऊंचे पहाड़ की तलहटी में बहुत बड़े पैमाने पर ज्यामितीय आकृतियां बनी हुई हैं।
देखने में ये नाज्का रेखाओं से मिलती-जुलती हैं पर वे ज्यादा सुघड़ हैं और बेहद सफाई से बनाई गई हैं। इन साज्मा रेखाओं का काल लगभग 3000 साल पूर्व का ठहरता है। इन रेखाओं ने 22,525 वर्ग किलोमीटर का एरिया घेर रखा है और ये नाज्का लाइंस से 15 गुना बड़ी हैं तथा 16 हजार किलोमीटर के एरिया में फैली हुई हैं। इनकी चौड़ाई 1-3 मीटर की है और अलग-अलग रेखाएं 20 किलोमीटर की दूरी तक चली गई हैं। खोजकर्ताओं का मानना है कि ये फुटपाथ के तौर पर प्रयोग की जाती रही हैं जो गांवों, पवित्र स्थानों और कब्रिस्तानों तक जाने के लिए लिंक रोड की तरह इस्तेमाल की गईं। हैरानी इस बात की है कि अगर ये रास्ते ही थे तो इनकी इतनी सटीक ज्यमितीय आकृतियां कैसे बनीं और इन्हें कैसे बनाया गया। हालांकि यह जमीन समतल भी नहीं है। फिलहाल इन्हें प्रागैतिहासिक काल में रखा जा सकता है।
Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: