Advertisements

शनिदेव होंगे प्रसन्न जब करेंगे ये उपाय 

- Advertisement -

सभी देवों और ग्रहों में शनिदेव को कर्मफलदाता का दर्जा दिया गया है। ऐसी मान्यता है कि अगर शनि देव रुष्ट हो जाएं तो राजा को रंक और यदि किसी पर खुश हो जाएं तो उसे रंक से राजा भी बना सकते हैं इसलिए इन्‍हें खुश करने के लिए लोग हर तरह के जतन करते हैं। जिनकी राशि में शनि की साढ़ेसाती या ढैया चल रही है। उन लोगों को शनिवार शनिदेव की पूजा जरूर करनी चाहिए। इससे उनकी आने वाली बाधाएं दूर होंगी व शनिदेव की कृपा बनी रहेगी।
  • शनि की साढ़ेसाती और ढय्या या अन्य कोई शनि दोष हो तो प्रत्येक शनिवार को किसी भी पीपल के पेड़ के नीचे दोनों हाथों से स्पर्श करें। स्पर्श करने के साथ पीपल के पेड़ की सात परिक्रमा करें और ‘ऊं शं शनैश्चराय नम:’ का जप करें।
  • जब भी शनिवार के दिन तेल दान करें तो उसमें अपनी परछाई जरूर देखें। परछाई दिखने के बाद ही उसे दान करें। ऐसी मान्यता है कि ऐसा करने से इससे शनिवार के दिन व्यक्ति को किसी भी प्रकार से कष्ट नहीं आता है।
  • कृष्णपक्ष के किसी भी शनिवार को नाव की कील से बना लॉकेट गले में पहनने से धन आदि की कमी नहीं होती। इन दिन बबूल की जड़ को सफेद सूत में लपेटकर रोगी की भुजा में बांधने से शीत ज्वर को नष्ट करने में सहायता मिलती है।
Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: