- Advertisement -

श्रीखंड कैलाश यात्रा 15 जुलाई से, पंजीकरण होगा जरूरी

प्रत्येक यात्री को 150 रुपये पंजीकरण शुल्क जमा करना होगा

0

- Advertisement -

आनी। निरमंड क्षेत्र में समुद्रतल से लगभग 18 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित उत्तरी भारत की सबसे कठिनतम श्रीखंड कैलाश यात्रा इस वर्ष भी प्रशासनिक तौर पर 15 जुलाई से शुरू होगी। इस यात्रा प्रबंधों को लेकर मंगलवार को पंचायत समिति सभागार निरमंड में श्रीखंड यात्रा ट्रस्ट की बैठक आयोजित की गई, जिसकी अध्यक्षता ट्रस्ट के उपाध्यक्ष एवं एसडीएम आनी चेत सिंह ने की।

बैठक में निर्णय लिया गया कि श्रीखंड यात्रा इस वर्ष भी 15 जुलाई से 31 जुलाई तक चलेगी। इस दौरान हर यात्री का पंजीकरण बेस कैंप सिंघगार्ड में किया जाएगा। प्रत्येक यात्री को 150 रुपये पंजीकरण शुल्क जमा करना होगा। बेस कैंप में हर यात्री का मेडिकल चेकअप किया जाएगा।

ट्रस्ट के उपाध्यक्ष एवं एसडीएम ने बताया कि यात्रियों की सुविधा के लिए श्रीखंड यात्रा के पड़ाव कुनशा में भी विशेष बेस कैंप बनाया जाएगा। जहां पर बीमार एवं घायल यात्रियों का इलाज किया जाएगा। श्रीखंड महादेव कैलाश यात्रा में इस बार यात्रियों का पंजीकरण जरूरी होगा।

पंजीकरण पर यात्रियों को श्रीखंड स्मारिका भी दी जाएगी। श्रीखंड यात्रा पर यात्रियों के लिए हर साल की तरह लंगर लगाए जाएंगे। इसके अलावा टेंट लगाने वाले यात्रियों कोचाय, खाना व नाश्ता तय कीमत पर देंगे। श्रीखंड यात्रा महादेव यात्रा के लिए अतिरिक्त बसो की मांग डीसी कुल्लु को भेजी गई है।

श्रीखंड यात्रा के 32 किलोमीटर पैदल कठिन रास्ते को ठीक करने के आदेश जारी किए गए हैं। जानकारी के अनुसार थाचडू कालीघाटी के साथ भू-स्खलन से पैदल रास्ते खराब हैं। इन्हें समय रहते ठीक किया जाएगा। श्रीखंड महादेव कैलाश यात्रा में श्रीखंड महादेव यात्रा में साधु संतों सहित आम जनता का स्वागत किया जाएगा। श्रीखंड कैलाश यात्रा को लेकर अगली बैठक जल्द डीसी कुल्लू की अध्यक्षता में होगी।

- Advertisement -

Leave A Reply