चुनावी शंखनादः सामाजिक संगठनों ने तैयार किया Agenda

0

विकलांगता के मुद्दें पर राजनीतिक दलों का खींचेंगे ध्यान

शिमला। हिमाचल विधानसभा चुनावों का शैड्यूल जारी होते ही अब सामाजिक संगठन और अन्य लोग अपना एजेंडा लेकर आने वाले हैं। वहीं, विकलांगता के मुद्दे पर भी सामाजिक संगठन सभी राजनीतिक दलों और समाज का ध्यान खींचने को आगे आ रहे हैं। सामाजिक संगठन उमंग फाउंडेशन 15 अक्टूबर को विकलांगता जन घोषणापत्र जारी करेगा। चुनाव आयोग की ब्रांड अंबेसडर दृष्टिबाधित मेधावी छात्रा मुस्कान ठाकुर इसे जारी करेंगी। इस मौके पर उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे अनेक विकलांग विद्यार्थी एवं अन्य युवा मौजूद रहेंगे। इनमें हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय, बागवानी विश्वविद्यालय सोलन एवं विभिन्न कॉलेजों के मेधावी विकलांग छात्र-छात्राएं शामिल होंगे।मुस्कान ठाकुर को पिछले माह निर्वाचन आयोग ने अपनी ब्रांड अंबेसडर बनाया था। भारत निर्वाचन आयोग की पूरी टीम के शिमला दौरे के दौरान उन्हें ब्रांड अंबेसडर बनाया था।

दिव्यांगों के हितों से जुड़े मुद्दे शामिल हों

उधर, उमंग फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रो. अजय श्रीवास्तव ने कहा कि यह देश में अपनी तरह का अनूठा जन घोषणापत्र होगा। इसका उद्देश्य है कि विभिन्न राजनीतिक दल अपने चुनाव घोषणा पत्रों में दिव्यांगों के हितों से जुड़े मुद्दे भी शामिल करें और जनता को भी पता चले कि समाज के इस महत्वपूर्ण वर्ग की समस्याएं और अधिकार क्या हैं। उन्होंने कहा कि पिछले दो विधानसभा चुनावों में भी उमंग फाउंडेशन ने विकलांगता के कई मुद्दों को उठाया था और कांग्रेस, बीजेपी और माकपा ने अपने अपने चुनाव घोषणा पत्रों में उनके मामलों को जगह दी थी।

You might also like More from author

Leave A Reply