बर्फबारी की आहट, Shimla प्रशासन Alert

शिमला। राजधानी में आगामी दिनों में बर्फबारी की चेतावनी के बाद जिला प्रशासन सर्तक हो गया है। लोगों को किसी प्रकार की परेशानी से सामना न करने पड़े, इसके लिए जिला प्रशासन ने आज से ही कवायद शुरू कर दी है। आज डीसी शिमला रोहन चंद ठाकुर ने हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड के शिमला स्थित प्रबंधन को शिमला में आगामी दिनों में पेट्रोलियम पदार्थों की नियमित आपूर्ति करने के निर्देश दिए हैं।

  • HPCL को पेट्रोलियम पदार्थों की नियमित आपूर्ति के निर्देश
  • नियमित आपूर्ति नहीं की गई तो ऐस्मा के तहत की जाएगी कार्रवाई

साथ ही कहा कि एचपीसीएल द्वारा आगामी दिनों में यदि पेट्रोलियम पदार्थों की नियमित आपूर्ति नहीं की गई तो संबंधित ट्रांसपोर्टर एवं एचपीसीएल के खिलाफ ऐस्मा (ऐसेंशियल सर्विसिज मेंटेनेंस एक्ट) के तहत कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि हिन्दुस्तान पैट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड के ट्रांसपोर्टरों द्वारा 16 जनवरी से हड़ताल पर जाने की बात कही गई है। आज यहां आयोजित बैठक में डीसी ने हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि शिमला में आगामी दिनों में बर्फबारी की संभावना जताई गई है। इसके मद्देनजर शिमला में किसी भी तरह के पेट्रोलियम पदार्थों की कमी नहीं आने दी जाए। उन्होंने कहा कि एचपीसीएल शिमला स्थित अपने चारों पेट्रोल पंप में ईंधन की नियमित आपूर्ति रखें और इसके लिए टैंकर की व्यवस्था भी समयबद्ध की जाए।  रोहन चंद ठाकुर ने कहा कि जिला में पर्याप्त मात्रा में पेट्रोल डीजल व अन्य ईंधन उपलब्ध हैं। इसके लिए जिला में लगभग पांच दिन का स्टॉक उपलब्ध है। जिला में एलपीजी की भी कोई कमी नहीं है और यह भी समुचित मात्रा में उपलब्ध है। रोहन चंद ठाकुर ने कहा कि उन्होंने डीसी सोलन से भी एचपीसीएल के ट्रांसपोर्टरों के साथ वार्ता कर इस मामले को हल करने के प्रयास करने का आग्रह किया है, क्योंकि ट्रांसपोर्टरों की यूनियन सेालन के नालागढ़ में है।  डीसी ने एचपीसीएल के शिमला स्थित ट्रांसपोर्टरों को भी 13 जनवरी को वार्ता के लिए बुलाया है।
नगर निगम को मार्गों पर नियमित रूप से रेत डालने के निर्देश
डीसी शिमला रोहन चंद ठाकुर ने नगर निगम शिमला और लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता को सभी महत्वपूर्ण मार्गों पर नियमित रूप से रेत डालने के निर्देश दिए हैं, ताकि वहां लोगों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने सभी अस्पतालों, उच्च न्यायालय, आवासीय कालोनी, कार्यालयों और अन्य महत्वपूर्ण स्थानों की ओर जाने वाले मार्गों पर नियमित रूप से रेत डालने के निर्देश दिए हैं। यह कार्य रोज सुबह 8 बजे समयबद्ध रूप से किया जाना चाहिए, ताकि लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े।

You might also like More from author

Comments