Advertisements

Street Vendor Scheme में किसको मिलेगा फायदा

- Advertisement -

Street Vendor Scheme: धर्मशाला। शहरी क्षेत्रों में रेहड़ी-फड़ी लगाने वालों को ध्यान में रखते हुए स्ट्रीट वेंडर योजना बनाई जानी है ताकि इन रेहड़ी-फड़ी वालों को अपने व्यवसाय के लिए स्थाई स्थान उपलब्ध करवाया जा सके। इस योजना का लाभ लेने के लिए जहां रेहड़ी-फड़ी लगाने वाले तैयार बैठे हैं वहीं एक तबका ऐसा भी है जो कि सिर्फ इस योजना का लाभ लेने के लिए रेहड़ी-फड़ी लगा रहा है। यह नई रेहड़ियां अवैध रूप से जगह- जगह पर लगाई जा रही हैं ताकि वेंडर पॉलिसी के तहत स्थाई स्थान मिल सके। प्रदेश के विभिन्न शहरी क्षेत्रों में इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं कि सिर्फ स्थाई स्थान प्राप्त करने के लिए अवैध रूप से रेहड़ी लगाई जा रही है। इसका विरोध जहां कुछ स्थानीय लोग भी कर रहे हैं वहीं कई वर्षों से अस्थाई रूप से रेहड़ियां लगाने वालों में भी इन अवैध कब्जों के खिलाफ रोष है। इसका दूसरा पहलू यह भी है कि यह नई रेहड़ियां गरीब लोगों द्वारा नहीं बल्कि साधन संपन्न लोगों द्वारा लगवाई जा रही हैं।

Street Vendor Scheme: धड़ल्ले से लगाई जा रही रेहड़ियां 

नगर निगम धर्मशाला की बात करें तो यहां पर भी कुछ ऐसी ही स्थिति है। जब से धर्मशाला नगर परिषद से नगर निगम बना है तब से अब तक शहर के कई हिस्सों में अवैध रूप से लगने वाली रेहड़ियों की संख्या बढ़ी है। जिन स्थानों पर रेहड़ी-फड़ी लगती थी वहां तो इनकी संख्या बढ़ी ही है, लेकिन जहां कोई रेहड़ी फड़ी नहीं होती थी उन स्थानों पर भी धड़ल्ले से रेहड़ियां लगाई जा रही हैं। इस तरह अवैध रूप से लग रही रेहड़ियों को सजने से रोकने में नाकाम नगर निगम कर्मियों की कार्यप्रणाली पर भी इससे सवालिया निशान लग रहा है। स्मार्ट सिटी बनने जा रहे धर्मशाला शहर की सुंदरता भी इस तरह के अवैध कब्जों से प्रभावित हो रही है। ऐसे में स्थानीय लोगों, पुराने रेहड़ी फड़ी वालों ने भी इन अवैध रूप से लगाई जा रही रेहड़ियों का विरोध शुरू किया है ताकि शहर को अतिक्रमण से बचाया जा सके और सही मायने में हकदार लोग सरकार की योजना का लाभ उठा सकें।

शिकायतें मिलीं हैं पात्रों को होगा आवंटन

इस बारे में शहरी विकास, आवास एवं नगर नियोजन मंत्री सुधीर शर्मा का कहना है कि मामला उनके ध्यान में है। धर्मशाला सहित अन्य शहरों में अवैध रूप से लगाई जा रही रेहड़ी फड़ी संबंधी शिकायतें भी उन्हें प्राप्त हुई हैं। सुधीर शर्मा का कहना है कि वेंडर पॉलिसी का लाभ पात्र लोगों को ही दिया जाएगा और इसके लिए कार्ययोजना भी तैयार की गई है। जो भी पुराने समय से रेहड़ी- फड़ी लगा रहे हैं उनका रिकॉर्ड तैयार किया जा रहा है ताकि पात्र लोगों को ही आबंटन हो सके। पॉलिसी के तहत स्थाई स्थान का आबंटन किया जाएगा और अवैध रूप से लगाई जा रही रेहड़ियों को हटा दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें – आनी के सरेओलसर की ओर बढ़े सैलानियों के कदम

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: