Supreme Court विवाद: जस्टिस चेलमेश्वर और CJI की मुलाकात टली, कल हो सकती है चारों जजों से मुलाकात

0

नई दिल्ली। शुक्रवार को देश की न्यायपालिका के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा जजों ने मीडिया को संबोधित किया। सीजेआई के बाद दूसरे नंबर के सबसे सीनियर जज जस्टिस चेलमेश्वर सहित 4 जजों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सुप्रीम कोर्ट प्रशासन के ठीक तरीके से काम नहीं करने के आरोप लगाए थे। सुप्रीम कोर्ट के जजों द्वारा की गई इस प्रेस वार्ता के बाद मानो भूचाल सा आ गया। लाख कोशिशों के बाद भी सुप्रीम कोर्ट विवाद सुलझता नहीं दिख रहा।

शनिवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा को सीजेई आवास के बाहर देखा गया। बताया जा रहा है कि प्रधान सचिव का एक सहायक सीजेआई के कैंप ऑफिस गया और मिनटों में वापस आ गया। वहीं बताया जा रहा है कि शनिवार को होने वाली जस्टिस चेलमेश्वर व चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की मुलाकात भी टल गई है। जस्टिस चेलमेश्वर के साथ प्रेस वार्ता करने वाले 3 जजों का दिल्ली में न होना इसका मुख्य कारण माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि 3 जजों के दिल्ली से बाहर होने के चलते जस्टिस चेलमेश्वर सीजेआई से मिलने को इच्छुक नहीं हैं। वहीं सूत्रों की मानें तो कल यानि रविवार को सीजेआई सभी 4 जजों से मुलाकात कर सकते हैं।

CJI ने रखा पक्ष, बोले – सब जज बराबर और स्वतंत्र

गौरतलब है कि शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने प्रेस वार्ता कर कहा था कि सुप्रीम कोर्ट का प्रशासन ठीक तरीके से काम नहीं कर रहा है, अगर ऐसा चलता रहा तो लोकतांत्रिक परिस्थिति ठीक नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि हमने इस मुद्दे पर चीफ जस्टिस से बात की, लेकिन उन्होंने हमारी बात नहीं सुनी। उन्होंने कहा कि चार महीने पहले हम सभी चार जजों ने चीफ जस्टिस को एक पत्र लिखा था, जो कि प्रशासन के बारे में था, जिसमें हमने कुछ मुद्दे उठाए थे। चीफ जस्टिस पर देश को फैसला करना चाहिए, हम बस देश का कर्ज अदा कर रहे हैं। जजों ने कहा कि हम नहीं चाहते कि हम पर कोई आरोप लगाए।

इस सारे मामले पर सीजेआई दीपक मिश्रा ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट में सब जज बराबर हैं और स्वतंत्र माने जाते हैं। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में सभी केसों का सही बंटवारा होता है। बता दें कि सुप्रीम के चार जजों , जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ ने शुक्रवार को प्रेस वार्ता कर कहा था कि अगर हम नहीं बोले तो लोकतंत्र खत्म हो जाएगा।

यह भी पढ़ें:न्यायपालिका में खामियांः Media के समक्ष आएं 4 सिटिंग जज, PM ने बुलाई बैठक

You might also like More from author

Leave A Reply