- Advertisement -

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार पाने वाले तिब्बती मूल के पहले शख्स बने मैक्लोडगंज के तेनजिंग

Tenzin Kunchok becomes the first tibetan to bag national film award for "Mritubhoj"

0

- Advertisement -

नई दिल्ली। हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला स्थित मैक्लोडगंज में अपना बचपन बिता चुके तिब्बती मूल के तेनजिंग कुनचोक को साल 2017-18 के लिए बेस्ट एडिटिंग कैटेगरी में राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से नवाजा गया है। यह सम्मान पाने वाले वे पहले तिब्बती युवा हैं। यह पुरस्कार उन्हें मृत्युभोज फिल्म में उनके बेहतरीन काम के लिए प्रदान किया गया है। इसी साल इस पुरस्कार से जानी-मानी बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी और अभिनेता विनोद खन्ना को मरणोपरांत सम्मानित किया गया था। पिछले महीने राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के लिए विजेताओं की सूची की घोषणा की गई थी। नई दिल्ली में विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने ये सम्मान प्रदान किया। तेनजिंग कुनाचोक इससे पहले बीबीसी और एक चैनल में बतौर संपादक काम कर चुके हैं। उन्होंने सोनम टेस्सेन द्वारा निर्देशित तिब्बती फिल्म गर्ल फ्रॉम चाइना का भी संपादन किया था। तेनजिंग के माता पिता हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में आकर बस गए थे, इनकी शिक्षा भी यहीं पर तिब्बती चिल्ड्रेन विलेज में हुई है। बाद में तेनजिंग ने दिल्ली कॉलेज ऑफ आर्ट एंड साइंस में भी अध्ययन किया।

एक्टिंग भी की मृत्युभोज में
फिल्म मृत्युभोज के संपादन के साथ तेनजिंग कुनचोक ने उसमें एक महत्वपूर्ण भूमिका भी निभाई है। यह तिब्बती समुदाय से फिल्म बिरादरी के लिए एक बड़ा मील का पत्थर है। इस तरह का सम्मान अन्य तिब्बती मूल के युवाओं को प्रेरित करेगा।

- Advertisement -

%d bloggers like this: