मस्जिद में तोड़ फोड़ और पुलिस की सुस्ती पर भड़का अल्पसंख्यक विभाग

0

पांवटा साहिब। पहले मस्जिद में तोड़-फोड़ और फिर पुलिस की धीमी कार्रवाई के खिलाफ अल्पसंख्यक विभाग खफा है। गुरुवार को पत्रकार वार्ता के दौरान मेलियों स्थित मस्जिद में धार्मिक ग्रंथ जलाने तथा पुलिस द्वारा अब तक इस मामले में कोई ठोस कार्रवाई न किए जाने की कड़ी निंदा की गई। इस दौरान जिला कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष इंतज़ार अली ने कहा कि इस घटना ने पूरे हिमाचल को शर्मसार किया है और मुस्लिम समुदाय की भावनाओं को आहत किया है। इस मामले से एक माह पूर्व भी पीपलीवाला मस्जिद को निशाना बनाया गया था, जोकि हिमाचल जैसे शांत प्रदेश के लिए खतरे की घंटी है।

पुलिस पर लगाए कई आरोप, अल्पसंख्यक समुदाय कल बनाएगा रणनीति

इंतज़ार अली ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि मानो एक खास अल्पसंख्यक समुदाय को ही डराने या भड़काने के लिए यह सब किया जा रहा है। जिला कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग इसकी कड़े शब्दों में निंदा करता है। उन्होंने पुलिस पर इन सभी मामलों में जानबूझकर ढिलाई बरतने का आरोप भी लगाया। वहीं इस संदर्भ में गुरुवार को समुदाय के लोगों ने एसडीएम पांवटा के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजा, जिसमें पुलिस व प्रशासन को इस बारे जल्द कार्रवाई करने की बात कही गई है। उधर, जिला माइनॉरिटी डिपार्टमेंट के अध्यक्ष इंतजार अली ने बताया कि इस मामले में जल्द निष्पक्ष जांच की जाए। इसके साथ ही पुलिस पिपलीवाला मस्जिद में हुए मामलों की जांच रिपोर्ट सावर्जनिक करें।

दूसरी ओर पुलिस प्रशासन की जांच से असंतुष्ट अल्पसंख्यक समुदाय के लोग आगे की रणनीति बनाने के लिए शुक्रवार को बैठक करेंगे। मामले में लोगों को समझाने में प्रशासन की नाकामी के बाद अब समुदाय मामले में आगे की रणनीति बनाएगा। इसके लिए शुक्रवार को मेलियो मस्जिद में बैठक रखी गई है। एक्शन कमेटी के सदस्य नजाकत अली हाशमी ने बताया कि लोग न तो पुलिस जांच से संतुष्ट है न ही प्रशासन की दलीलों से। इस लिए समुदाय के लोग बैठक कर आगे की रणनीति बनाएंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply