चुनाव आचार संहिता: अब नहीं होंगे तबादले, उद्घाटन और शिलान्यास पर भी रोक

0

शिमला। हिमाचल प्रदेश में चुनावों की तारीख की घोषणा के साथ ही आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है। इसके लगने से कई तरह के कार्यों पर रोक लग गई है। बता दें कि आचार संहिता लागू होने से अधिकारियों और कर्मचारियों के तबादलों पर प्रतिबंध लग गया है।  इस दौरान जो जरूरी तबादले होंगे, वे निर्वाचन आयोग की अनुमति से ही होंगे। साथ ही किसी भी तरह के उद्घाटन या शिलान्यास पर भी रोक लग गई है। इसके अलावा सीएम कोई भी नई घोषणा नहीं कर पाएंगे और किसी भी विभाग में नई नियुक्ति नहीं होगी। आचार संहिता के बाद अलावा सत्ताधारी दल की उपलब्धियों का सरकारी खर्च पर प्रसार प्रचार नहीं किया जा सकेगा। सरकार की उपलब्धियों के बखान के लिए जो होर्डिंग लगाए गए हैं उन्हें हटाया जाएगा। जनसंपर्क विभाग की सरकार की उपलब्धियों का बखान नहीं कर पाएगा। आचार संहिता लगने के बाद सरकार के प्रचार के होर्डिंग्स हटाने का कार्य शुरू हो गया था और खुद डीसी और एसपी इसे हटाने में जुटे थे।

घोषणापत्र में किए वायदों को कैसे पूरा करेंगे बताना होगा राजनीतिक दलों को

रैली स्थल पर या किसी अन्य स्थान पर लाउड स्पीकर प्रयोग करने के लिए अनुमति लेनी होगी। साथ ही विश्रामगृहों और अन्य सरकारी आवासों पर काबिज सत्ताधारियों को खाली करना होगा। वहीं, इस बार आदर्श आचार संहिता में राजनीतिक दलों के चुनाव घोषणापत्रों को भी शामिल किया गया है। राजनीतिक दलों को यह बताना होगा कि घोषणापत्र में किए जाने वाले वायदों को वे कैसे पूरा करेंगे। यह भी बताना होगा कि इसके लिए वित्तीय व्यवस्था किस तरह करेंगे। प्रदेश में चुनावों के ऐलान के बाद चुनाव प्रचार के दौरों के लिए मंत्रियों को सरकारी वाहनों के इस्तेमाल की अनुमति नहीं होगी।

यह भी पढ़ें : Himachal में बजा चुनावी बिगुल, 9 नवंबर को वोटिंग, 18 दिसंबर को आएंगे नतीजे

You might also like More from author

Leave A Reply