Advertisements

ये क्या… कहीं एक भी नहीं और कहीं एक ही कुर्सी के दो-दो चाहवान

- Advertisement -

हमीरपुर। प्रदेश कांग्रेस सरकार के शासनकाल में कहीं एक एसडीओ नहीं और कहीं दो एसडीओ, दो सीनियर क्लर्क और इसके अतिरिक्त दो ही चपरासी एक पद पर कार्य कर रहे हैं। यह स्थिति नादौन के आईपीएच सब डिवीजन के कार्यालय में देखने को मिल रहा है। सीनियर क्लर्क रविंद्र कुमार का धनेटा स्थानांतरण किया गया है, जिन्होंने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है, इनके स्थान पर ज्वालाजी से स्थानांतरित होकर सुभाष चंद आए हैं। चपरासी सुरेश कुमार की जगह शकुंतला देवी भी प्रोमोट होकर आई हैं। अव्यवस्था का आलम ये है कि कर्मचारी सत्तारूढ़ दल की राजनीति का शिकार हो रहे हैं।

विभाग के आदेशों के खिलाफ ट्रिब्यूनल पहुंचे अधिकारी

ताजा मामला एसडीओ मीर चंद का है। मीर चंद 21 अगस्त, 2015 को नादौन आए थे, जिनका राजनीतिक दबाव के चलते नवंबर 2016 को स्थानांतरण कर दिया लेकिन 20 फरवरी, 2017 को रद कर दिया गया। ताजा घटनाक्रम में मीर चंद का स्थानांतरण 18 सितंबर को फिर कर दिया गया। गौरतलब है कि मीर चंद 30 दिसंबर को सेवानिवृत हो रहे हैं। उन्होंने प्रशासनिक ट्रिब्यूनल में उत्पीड़न का आरोप लगाया है और तब तक यहां से जाने को तैयार नहीं है जब तक ट्रिब्यूनल का फैसला नहीं आ जाता। वहीं, जिस राजेश कुमार एसडीओ को नादौन लाने की खातिर मीर चंद को बार-बार बदला गया। वो पिछले 9 वर्ष से हमीरपुर में ही तैनात हैं। नादौन कार्यालय में अव्यवस्था के आलम पर विभाग चुप्पी साधे बैठा है, जबकि आम जनता को भारी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें : Dhumal बोले, अब तो अधिकारी भी कहने लगे प्रदेश का बेड़ा गर्क

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: