विद्या उपासक संघ ने उठाई मांगः Old Pension Scheme के तहत लाए जाएं 80 हजार कर्मचारी

0

सुंदरनगर। आने वाले समय में भी प्रदेश सरकार प्रदेश के विभिन्न विभागों में न्यू पेंशन स्कीम के तहत तैनात 80 हजार के करीब कर्मचारियों को भी पुरानी पेंशन स्कीम के तहत लाए। यह मांग विद्या उपासक संघ ने की है।  विद्या उपासक संघ के सौजन्य से एक समान समारोह का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता प्रदेशाध्यक्ष नरेश ठाकुर ने की।

विद्या उपासकों को पुरानी पेंशन स्कीम के तहत लाने के फैसले की जोरदार सराहना की और संघ के प्रदेशाध्यक्ष नरेश ठाकुर समेत राज्य कार्यकारिणी के सदस्यों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर विभिन्न जिलों से आए हुए पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए नरेश ठाकुर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से संघ की जीत हुई है, जिससे प्रदेश के 1600 के करीब विद्या उपासक सीधे तौर पर लाभांवित हुए हैं। सभी शिक्षक पुराने स्कीम के तहत आए हैं और इसे सरकार ने लागू कर दिया है। 

विद्या उपासकों को पुरानी स्कीम में लाने के फैसले का जोरदार स्वागत

उन्होंने कहा कि उन्होंने बताया कि वर्ष 2015 में सरकार के खिलाफ कोर्ट में केस किया था और जिसमें विद्या उपासकों को जीत हासिल हुई थी। लेकिन, सरकार ने फैसला लागू करने में आनाकानी की, जिसके विरोध में सरकार के खिलाफ याचिका सुप्रीम कोर्ट में संघ ने दायर की। नरेश ठाकुर ने कहा है कि हाल ही में विद्या उपासकों को पुरानी स्कीम में लाने के फैसले का जोरदार स्वागत करते हुए कहा कि आगामी समय में भी ग्रामीण विद्या उपासक संघ शिक्षकों की मांगों को प्रदेश सरकार के समक्ष हर मोर्चे पर रखेगा। उन्होंने कहा कि शिक्षकों की मांगों को पहले भी हर पटल पर जोरदार रूप से उठाते आए हैं। लेकिन, पूर्व की कांग्रेस सरकार ने विद्या उपासकों के साथ दोहरी नीति के तहत काम किया है, जिसका परिणाम पूर्व की प्रदेश सरकार को यूं चुकता करना पड़ा है।

कार्यक्रम में महासचिव नरेंद्र पराशर, कोषाध्यक्ष गगन चतुर्वेदी, महालेखाकार हेमराज, उपाध्यक्ष जोगा सिंह, सलाहकार प्रदीप ठाकुर, जिला प्रभारी किन्नौर त्रिलोक नेगी, मंडी से विनोद कुमार, कुल्लू से त्रिलोक कुमार, लाहौल से मनजीत, हमीरपुर से जितेंद्र, सोलन से नरेश कुमार के अलावा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सतीश मेहरा विशेष तौर से मौजूद रहे।

You might also like More from author

Leave A Reply