- Advertisement -

कॉन्डम से क्यों परहेज करने लगे हैं भारतीय युवा ?

कॉन्डम के इस्तेमाल में आई है 52 फीसदी की कमी

0

- Advertisement -

नई दिल्ली। हाल ही में स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी की गै एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ कि भारत में पिछले आठ सालों के दौरान युवाओं के बीच कॉन्डम के प्रयोग में 52 फीसदी की कमी आई है। जिसके बाद से ये सवाल उठ खड़ा हुआ है कि आखिर क्यों लाखों-करोड़ों रुपए के विज्ञापन किए जाने के बावजूद युवाओं का कॉन्डम की तरफ से रुझान क्यों कम हुआ है। आज हम आपको ऐसे कारणों के बारे में बाताने जा रहे हैं जिनके कारण से युवाओं ने भारत में कॉन्डम का इस्तेमाल करना कम कर दिया है।

1 असहजता का अहसास : आज के दौर के युवाओं की मानें तो कॉन्डम का इस्तेमाल करने से उन्हें असहजता का अहसास होने लगता है और साथ ही आंनद में भी कमी आती है। युवाओं का कहना है कि पाटर्नर को प्रेगनेंसी से बचाने के लिए वे आई पिल और कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स जैसी तमाम सुविधा का इस्तेमाल कर लेना अधिक बेहतर समझते हैं।

2 मूड और टाइमिंग का पता नहीं : आज के दौर के युवाओं के लिए सेक्स करना उतनी बड़ी बात नहीं रह गई है। इसके लिए उनकी टाइमिंग और मूड कब सेट हो जाए उन्हें इस बात का पता नहीं रहता है। ऐसे में आज के युवा 24 घंटे कॉन्डम लेकर घूमना नहीं पसंद करते हैं।

3 मर्दानगी का भी है सवाल : युवाओं का कॉन्डम के प्रति रुझान कम होने का एक कारण यह भी है। जी हां कई युवाओं का ऐसा मानना है कि इसे लगाने से कोई मर्दानगी कम हो जाती है। यह हीनता तो नहीं भरता है, लेकिन हां थोड़ा अजीब जरूर लगता है।

- Advertisement -

Leave A Reply