Advertisements

स्वस्थ जीवन शैली से कम करें कैंसर का जोख़िम

0

- Advertisement -

सामान्य तौर पर देखें तो कैंसर के 100 से भी अधिक रूप हैं और हर कैंसर के होने के कारण भी अलग-अलग हैं। हां, कुछ मुख्य कारक ऐसे भी हैं, जिनसे किसी को भी कैंसर होने का खतरा हो सकता है। अगर आज के दौर में हम बीमारियों की बात करें तो इनसे होने वाली मौतों का सबसे बड़ा कारण है कैंसर। तमाम प्रयासों के बावजूद कैंसर के मरीजों की संख्या में कमी नहीं आ रही। हालांकि हर साल 4 फरवरी को इस समस्या को लेकर कैंसर दिवस मनाया जाता है।
विचार विमर्श होता है पर जो तकनीक इसके निदान की ओर जाती है वह नहीं मिलती। हर बार लोगों को इसके लिए जागरूक किया जाता है पर रोक थाम किसी भी तरह नहीं हो पा रही। कुछ कारण तो ऐसे हैं जिनके बारे में लोग जरा भी जागरूक नहीं हैं। मसलन वजन का बढ़ना, मोटापा, शारीरिक रूप से अधिक सक्रिय न होना, एल्कोहल या अन्य नशीले पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करना। इसके अलावा पौष्टिक आहार न लेना और अपनी दिनचर्या में व्यायाम को न शामिल करना भी कारण हो सकता है। गौरतलब है कि कैंसर आनुवांशिक रूप से भी हो सकता है।
ऐसा कैंसर पीड़ित माता या पिता के जीन बच्चों में आ जाने से होता है। अगर आप किसी गंभीर बीमारी की दवाएं ले रहे हैं तो उसके साइड इफेक्ट भी आपको कैंसर दे सकते हैं। उम्र बढ़ने के साथ शरीर में चुस्ती-फुर्ती नहीं रह जाती ऐसे में भी कैंसर हो सकता है। महिलाओं में ज्यादातर ब्रेस्ट कैंसर, गर्भाशय का कैंसर और सर्वाइकल कैंसर से सबसे अधिक मौतें होती हैं। पुरुषों में लंग, स्टमक, लिवर और ब्रेन कैंसर से  मौत होती है। फिर भी मौतों का प्रतिशत महिलाओं में ज्यादा है।
कहना सिर्फ यह है कि अगर आप इस सांघातिक बीमारी से बचना चाहते हैं  तो अपनी जीवन शैली को नियंत्रित करें और खान-पान पर भी विशेष ध्यान दें। तंबाकू का इस्तेमाल न करें, अपना वजन ज्यादा न बढ़ने दें। भोजन में सब्जी व फल का अधिक प्रयोग करें  तथा एक्टिव रहें। एक बात और  कि अपना नियमित चेकअप करवाते रहें । इस बीमारी के शुरुआती दौर में पता चल जाने पर इलाज भी शुरू कर दें। यह सही है कि इस बीमारी का समाधान अभी तक नहीं मिला है पर स्वस्थ जीवन शैली से इसके जोखिम को कम किया जा सकता है।
Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: