युवा शिखर साहित्य सम्मान के लिए गौरीनाथ और मुरारी शर्मा का चयन

0

शिमला साहित्यिक संस्था शिखर शिमला द्वारा दिया जाने वाला प्रतिष्ठित युवा शिखर साहित्य सम्मान इस बार दो महत्वपूर्ण युवा कथाकारों गौरीनाथ और मुरारी शर्मा को दिए जाने का निर्णय लिया गया है। शिखर संस्था के अध्यक्ष दिनेश मल्होत्रा की अध्यक्षता में आयोजित निर्णायक मंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया। प्राप्त प्रविष्टियों और संस्तुतियों पर विचार करने के बाद युवा शिखर सम्मान 2016 और 2017 के लिए क्रमश: मुरारी शर्मा और गौरीनाथ का चयन किया गया। मंडी हिमाचल प्रदेश से संबंध रखने वाले मुरारी शर्मा के दो कहानी संग्रह बाणमूठ और धार पर धूप प्रकाशित एवं चर्चित हुए हैं। मिथिला क्षेत्र सुपौल बिहार से ताल्लुक रखने वाले गौरी नाथ के तीन चर्चित कहानी संग्रह नाच के बाहर, मानुस और बीज-भोजी के अलावा एक उपन्यास दाग और हाल ही में वैचारिक गद्य का संकलन समय की खराद पर प्रकाशित है।

29 अक्तूबर को पालमपुर में दिया जाएगा सम्मान

बता दें कि शिखर सम्मान से अब तक वरिष्ठ वर्ग में कथाकार कमलेश्वर के अलावा युवा वर्ग में आत्मा रंजन, भरत प्रसाद, हरेप्रकाश उपाध्याय, अरुण शीतांश और विवेक मिश्र को सम्मानित किया जा चुका है। गत वर्ष मंडी में शिखर के आयोजन में वरिष्ठ कथाकार कवि सुंदर लोहिया को भी शिखर आजीवन उपलब्धि सम्मान से सम्मानित किया गया था। शिखर संस्था के महासचिव केशव के अनुसार इन दोनों रचनाकारों को पालमपुर में 29 अक्तूबर को आयोजित किए जाने वाले शिखर के साहित्यिक समारोह में सम्मानित किया जाएगा। समारोह में देश और प्रदेश के अनेक महत्वपूर्ण रचनाकार शामिल होंगे।

Leave A Reply