Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,557,583
मामले (भारत)
230,543,349
मामले (दुनिया)

अफगानिस्तान के चंगुल से कैसे कैसे छूटे ये दो हिमाचली, देखें

- Advertisement -

नई दिल्ली/ मंडी। अफगानिस्तान में फंसे हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला के सरकाघाट उपमंडल के दो युवकों में से एक युवक सही सलामत अपने देश पहुंच गया है जबकि दूसरे की आज देर रात तक पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार सरकाघाट निवासी नवीन ठाकुर की फ्लाइट आज सुबह पौने सात बजे दिल्ली एयरपोर्ट पर लैंड हुई है। नवीन ने दिल्ली पहुंचते ही सबसे पहले अपने परिजनों को इसकी जानकारी दी। वतन वापसी की खबर सुनकर परिवार की खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा। नवीन की माता पदमा ठाकुर ने बताया कि उनका बेटा दिल्ली पहुंच गया है और आज देर रात तक घर पहुंचने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि नवीन का दिल्ली में कोरोना का टेस्ट होगा और कुछ अन्य औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद वहां से अपने घर के लिए रवाना होगा। वहीं सरकाघाट क्षेत्र का ही राहुल बुराडी इस वक्त लंदन में मौजूद है। जिस फ्लाइट से राहुल अफगानिस्तान से आया वो उसे लंदन तक लेकर आई है। अब यहां से उसे अगली फ्लाइट दिल्ली के लिए आज देर रात तक मिलने की उम्मीद है। अगले एक या दो दिनों के भीतर राहुल भी अपने घर पहुंच जाएगा। राहुल के पिता बलवंत बुराडी ने इस बात को लेकर संतोष जताया कि उनका बेटा अफगानिस्तान से सुरक्षित बाहर आ गया है और किसी सुरक्षित देश में है। नवीन की माता पदमा ठाकुर और राहुल के पिता बलवंत बुराड़ी ने मदद के लिए राज्य और केंद्र सरकार का आभार जताया है। दोनों ने कहा कि मामले पर सीएम जयराम ठाकुर, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरी तरह से मदद की है जिसे वे कभी नहीं भुला पाएंगे। आज सरकार के प्रयासों से ही उनके बच्चे अफगानिस्तान से सुरक्षित बाहर निकल पाए हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED VIDEO

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है