Covid-19 Update

2,21,203
मामले (हिमाचल)
2,16,124
मरीज ठीक हुए
3,701
मौत
34,043,758
मामले (भारत)
240,610,733
मामले (दुनिया)

इन लोगों को रोजी-रोटी के लाले

- Advertisement -

मंडी। शहर के सेरी चानणी पर रेहड़ी-फहड़ी धारकों को इन दिनों रोजी रोटी कमाना मुश्किल हो गया है, रेहड़ी-फड़ी धारकों का कहना है कि 6 साल पहले उन्हें स्कूल बाज़ार से उठाकर डीसी ऑफिस के नजदीक सेरी चानणी के पास स्थान दिया गया था, लेकिन यहाँ पर काम न होने के चलते उन्हें अपना गुजारा करना मुश्किल हो गया है। रेहड़ी धारक एसआर राजू ने बताया कि जहाँ उन्हें रेहड़ी लगाने के लिए स्थान दिया है वहां नाममात्र लोग पहुंच पाते हैं, जिसके चलते उनका काम बंद होने की कगार पर पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि इस स्थान पर उन्होंने और उन्य रेहड़ी फहड़ी धारकों ने बदल बदल कर काम शुरू किए लेकिन उन्हें किसी प्रकार का मुनाफा नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि यहां पर काम न होने के चलते अधिकतर रेहड़ी फड़ी धारक घर पर बैठने को मजबूर हैं।
बाइट – एस आर राजू, रेहड़ी-फहड़ी धारक मंडी शहर

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED VIDEO

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है