Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

Kullu में तिकोना मुकाबला बनाने की कोशिश

Kullu में तिकोना मुकाबला बनाने की कोशिश

- Advertisement -

महेश्वर सिंह व सुंदर ठाकुर के वोट बैंक पर रेणुका डोगरा की सेंध

कुल्लू। कांग्रेस की अंतिम लिस्ट में कुल्लू विधानसभा क्षेत्र से सुंदर ठाकुर को चुनावी मैदान में उतारे जाने से जहां सुंदर समर्थकों में जश्र का माहौल है वहीं, इस सीट से टिकट के अन्य दावेदार व उनके समर्थक खामोश हो गए है। पूर्व बागवानी मंत्री सत्य प्रकाश ठाकुर सीएम वीरभद्र सिंह के खासमखास होने के बावजूद एक बार फिर टिकट की लड़ाई में पिछड़ गए हैं वहीं कांग्रेस के टिकट पर इस बार कांग्रेस नेता अरुण शर्मा को काफी उम्मीद थी। सबसे पहले जिला में यही चर्चा थी कि अरुण शर्मा का टिकट पक्का हो गया है। यही नहीं अरुण शर्मा के समर्थक टिकट पक्का होने पर जश्र भी मना चुके थे, लेकिन बाद में टिकट का पेंच इस कदर फंसा कि आखिर तक कांग्रेस के 9 विस क्षेत्रों की टिकट लटकती रही और अब आखिर में सुंदर ठाकुर टिकट लेने में कामयाब रहे हैं।

सुंदर ठाकुर को टिकट मिलते ही अन्य नेताओं में खामोशी छा गई है जो टिकट की लाइन में थे। अब कांग्रेस से सुंदर ठाकुर की सीधी टक्कर जहां भाजपा के वरिष्ठ नेता महेश्वर सिंह से होने जा रही है, वहीं कांग्रेस छोड़कर राष्ट्रीय आजाद मंच पार्टी में गई रेणुका डोगरा इस मुकाबले को तिकोना बनाने की भरपूर कोशिश कर रही है। जिला में एकमात्र महिला उम्मीदवार होना व दोनों पार्टियों के रूष्ट वोट बैंक पर रेणुका डोगरा के समर्थकों की नजर हैं। सूत्रों के अनुसार इस वक्त पूर्व मंत्री सत्य प्रकाश ठाकुर के समर्थक भी खामोश हो गए हैं और उनमें नाराजगी भी है कि वरिष्ठ नेता को पूरी तरह से कांग्रेस ने साइड लाइन लगाया है। वहीं अरुण शर्मा के समर्थक भी काफी नाराज चले हुए हैं वहीं रेणुका डोगरा पहले ही कुल्लू कांग्रेस पर आरोप लगा चुकी है कि कांग्रेस में वरिष्ठ नेताओं की कद्र नहीं है।


ऐसे में सुंदर सिंह ठाकुर को रूठों को मनाने में समय लग सकता है। यदि रूठों को नहीं मनाया तो उसका नुकसान भी झेलना पड़ सकता है। उधर, महेश्वर सिंह के साथ बीजेपी प्रदेश महामंत्री राम सिंह टिकट की लड़ाई में थे और उनका टिकट कटने से उनके समर्थक भी नाराज हो सकते हैं। इसलिए महेश्वर सिंह को भी राम सिंह के समर्थकों को मनाने में संघर्ष करना पड़ सकता।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है