Expand

खाद्यान्न अवशेष व कूड़े-कचरे से ऊर्जा उत्पादन

खाद्यान्न अवशेष व कूड़े-कचरे से ऊर्जा उत्पादन

- Advertisement -

शिमला। दक्षिण कोरिया में खाद्यान्न अवशेष के साथ कूड़े-कचरे का निस्तारण न केवल वैज्ञानिक तरीके से होता, बल्कि वहां पर इससे ऊर्जा भी पैदा की जा रही है। इस में खास बात यह है कि द. कोरिया में लोग घरों से बचे अपशिष्ट पदार्थो के लिए पैसा देते नहीं, बल्कि लेते हैं। इनके बेहतर प्रबंधन से वह अपने परिवेश को साफ -सुथरा रखते हैं और ऊर्जा पैदा करते हैं।यह बात हिमाचल के दौरे पर आई व‌र्ल्ड बैंक टीम की सदस्य यूंजू एलिसन यी ने संजौली कालेज के छात्रों को संबोधित करते हुए कही।

  • व‌र्ल्ड बैंक टीम के सदस्य संजौली कॉलेज पहुंचे
  • स्मार्ट सिटी के बारे में जागरूकता कार्यशाला

energy-productionजाहिर है कि व‌र्ल्ड बैंक टीम के सदस्य शुक्रवार को संजौली कालेज पहुंचे। यहां पर स्मार्ट सिटी के बारे में जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया। विश्व बैंक से आई प्रोजेक्ट मैनेजर दक्षिण कोरिया की यूंजू एलिसन यी ने विश्वभर में स्मार्ट सिटी में ईको फ्रैंडली प्रबंधन की नीतियों के बारे में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि वहां पर बहुत सारी स्मार्ट सिटी ऐसी हैं जहां पर अपशिष्ट पदार्थों से बिजली बनाई जा रही है।कार्यशाला में छात्रों को डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी दिखाई गई। इसमें दिखाया कि द. कोरिया ने 2008 में ग्रीन ग्रोथ अवधारणा को अपनाया था और अब यह क्षेत्र विश्व नेता के रूप में उभरा है। फिल्म के माध्यम से दिखाया गया कि वहा खाद्यान्न अवशेष सहित शत-प्रतिशत कूड़े-कचरे का निस्तारण न केवल वैज्ञानिक ढंग से किया जा रहा है, परंतु इससे ऊर्जा भी पैदा की जा रही है। द. कोरिया ने शहरी परिवहन क्षेत्र में ऐतिहासिक बदलाव लाया है। उन्होंने बताया कि हिमाचल में अपशिष्ट पदार्थो के बेहतर प्रबंधन से ऊर्जा उत्पादन के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है