×

खूबसूरती से जीना सीखें

खूबसूरती से जीना सीखें

- Advertisement -

देखा जाए तो आजकल महिलाएं अष्टभुजा देवी बन गई हैं। वे घर की आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए नौकरी करती हैं। पति और बच्चों की अच्छी देखभाल करती हैं। पूरे घर को एक सुंदर गेटअप देना भी उनका ही काम है यानी कि घर की सफाई और साज-सज्जा भी उन्हीं का विभाग है। इतना ही क्यों किचन से लेकर बच्चों को पढ़ाना और उनकी प्रोग्रेस पर पूरा ध्यान देना। एक लंबी लिस्ट है काम की आज की महिलाओं के सामने और इसे वे बेहद शालीनता और पूरी जिम्मेदारी के साथ निभा भी रही हैं। ऊपर से देखने में तो सब ठीक लगता है पर देखें तो कहीं कुछ खो सा गया है। अपने बारे में सोचने का, अपनी पसंद का खाना-पहनना और मनचाही जगह पर घूमने जाना। गीत-गजल सुनना या फिर कुछ घंटे लाइब्रेरी में बिताना यह सब किसी कमरे में दुबक कर रह गया है। कभी व्यस्तता की बात करें भी तो सुनने को मिलता है कि आजादी तो तुम्हें भी पसंद है। अब घर का काम पुरुष थोड़े ही करेंगे।


  • अपनी व्यस्तता के बीच थोड़ा वक्त अपने लिए जरूर निकालिए, जो आपकी हॉबी हो उसको भी थोड़ा समय दीजिए।
  • कभी दोस्तों से मिलने जाइए, पार्क में वॉक करने जाएं।
  • पेंटिंग करती हैं तो जरूर करें और कहानी लिखने का शौक है तो उसे भी क्यों छोड़ना।
  • एक काम के पीछे अपने को होम कर देना अच्छा नहीं। इससे आपका वजूद खत्म हो जाएगा फिर आपकी जिंदगी एक मशीन के अलावा कुछ नहीं रह जाएगी।
  • अपने काम और व्यक्तिगत जीवन में संतुलन बनाएं और खूबसूरती से जीना सीखें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है