Covid-19 Update

2,16,813
मामले (हिमाचल)
2,11,554
मरीज ठीक हुए
3,633
मौत
33,437,535
मामले (भारत)
228,638,789
मामले (दुनिया)

टाइम का है ये फेर गाली-गलौज, मारपीट वर्दी फाड़ी, धमकी दी

- Advertisement -

घुमारवीं । निजी बस और परिवहन निगम की बसों के बीच आए दिन हो रहे विवाद थमने का नाम नहीं ले रहे हैं हर रोज कहीं ना कहीं निजी बस और एचआरटीसी की बसों के चालको व परिचालकों के बीच समय सारणी को लेकर मारपीट और विवाद दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं मिली जानकारी के अनुसार बीती रात रिकांगपिओ से हमीरपुर जा रही परिवहन निगम की बस के चालक व परिचालक की घुमारवीं नामक स्थान कुछ स्थानीय निजी बस के चालक व परिचालकों द्वारा मारपीट की गई जिसकी हिमाचल परिवहन मजदूर संघ के प्रदेश अध्यक्ष प्यार सिंह ठाकुर प्रदेश महामंत्री हरीश कुमार पराशर प्रदेश सचिव रविंद्र सिंह व समस्त पदाधिकारियों ने कड़ी निंदा की है संघ के पदाधिकारियों ने बताया कि परिवहन निगम की बस रिकांगपिओ से हमीरपुर जा रही थी जब बस ब्रह्मपुखर के पास पहुंची तो बीच सड़क में एक ट्रक खराब होने की वजह से सड़क में बहुत जाम लगा हुआ था जिसकी वजह से गाड़ी करीब वहां डेढ़ घंटा लेट हो गई थी जब जाम नहीं खुला तो बस को दूसरे रास्ते से ले जाना पड़ा जिस कारण बस लेट हो गई उसी बस के साथ-साथ पीछे एक निजी बस आरटीसी जो रामपुर से हमीरपुर चलती है। जैसे ही निगम की बस घुमारवीं बस स्टैंड पर सवारियों उतारने व बस की एंट्री करने के लिए बस स्टैंड गई तो वहां पर कुछ और अन्य निजी बस के चालक परिचालकों के साथ मिलकर आरटीसी बस के चालक परिचालकों द्वारा परिवहन निगम की बस को रोककर समय सारणी को लेकर गाली गलौज और मारपीट शुरू कर दी जिससे परिचालक को चोटें आई और वर्दी को फाड़ दिया गया तथा जान से मारने की धमकी देने लगे, मौके पर परिवहन मजदूर संघ के प्रदेश सचिव रविंदर सिंह ने पीड़ितों के साथ पुलिस चौकी जाकर प्राथमिकी दर्ज करवाई इस तरह की घटना हर रोज आए दिन परिवहन के कर्मचारियों के साथ होती रहती है इसलिए हिमाचल परिवहन मजदूर संघ सरकार से यह मांग करता है निजी बस को तुरंत हिरासत में लेकर दोषियों को गिरफ्तार करके सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए और सरकार परिवहन कर्मचारियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कोई ऐसा कड़ा कानून बनाए जैसा करोना महामारी के समय डॉक्टरों के लिए मेडी पर्सन एक्ट बनाया था ताकि जो इस तरह के शरारती लोग परिवहन कर्मचारियों के साथ इस तरह का दुर्व्यवहार करते हैं उनके ऊपर इस एक्ट के तहत कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED VIDEO

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है