Expand

नबाही मंदिर धांधलीः गुप्तचर विभाग ने कसा शिकंजा

नबाही मंदिर धांधलीः गुप्तचर विभाग ने कसा शिकंजा

- Advertisement -

सरकाघाट। जिला मंडी के नबाही मंदिर में हुई कथित धांधली के संबंध में गुप्तचर विभाग ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। इस मामले में मंदिर में तैनात कई कर्मचारी चपेट में आ सकते हैं। विभाग की एक टीम गुरुवार से वर्ष 2008 से लेकर 2014 तक का स्पेशल ऑडिट एक चार्टड एकाउंटेंट के माध्यम से करवा रही है। जाहिर है कि नबाही माता मंदिर का सरकार ने वर्ष 2007 में अधिग्रहण किया था और गत सात वर्षों में मंदिर की आय और व्यय में हुई बढ़ोतरी और कथित तौर पर हुई धांधली के बारे में स्थानीय लोगों को गत कई वर्षों से गोलमाल की बू आ रही थी।

  • करवाया जा रहा वर्ष 2008 से लेकर 2014 तक का स्पेशल ऑडिट

navahi-mataदो वर्ष पूर्व हरिबैहना पंचायत निवासी और समाजसेवी डॉ. विनोद ठाकुर ने आरटीआई के तहत ली गई सूचना धांधली  सामने आई थी और उनके द्वारा प्रदेश के गुप्तचर विभाग को गोपनीय सूचना देकर मंदिर में हुए सारे गोलमाल को रिकॉर्ड सहित उपलब्ध करवाया गया था।

  • गुप्तचर विभाग की मंडी शाखा ने मामले की गम्भीरता को समझते हुए अपने तौर पर  जांच करवाई और गत वर्ष स्थानीय तहसील के तत्कालीन कर्मचारियों के खिलाफ  शिमला के भराड़ी पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया था। लेकिन, नबाही मंदिर  बचाओ समिति के अध्यक्ष ललित जम्वाल और समिति के सदस्यों ने विशेष ऑडिट की प्रदेश सरकार से मांग की और विभाग द्वारा एक सीआईडी इंस्पेक्टर राज कुमार, एएसआई नन्द लाल,मुख्य आरक्षी चन्दर शेखर और चार्टड एकाउंटेंट राजेन्द्र कुमार की टीम को विशेष ऑडिट करने बारे भेजा गया है जो  गत सात वर्षों का रिकॉर्ड खंगाल रही है।

प्रारम्भिक जानकारी के अनुसार  एक बड़े गोलमाल के बाहर आने की संभावना जताई जा रही है, हालांकि गुप्तचर विभाग के अधिकारी कुछ भी कहने से इनकार कर रहे हैं और अपने उच्चाधिकारियों को ही हर सूचना देने की बात कर रहे हैं। इधर, मन्दिर बचाओ कमेटी के अध्यक्ष ललित जम्बाल ने इस विशेष ऑडिट को देर से उठाया सही कदम बताते  हुए आरोपियों को सलाखों के पीछे भेजने की बात कही है। गुप्तचर विभाग के मंडी स्थित डीएसपी मनोहर  लाल ने जांच दल के आने की पुष्टि की है और मामले के न्यायालय में विचाराधीन होने का हवाला दिया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है