Expand

पटेल की बात मानी होती तो नहीं होता ऑक्युपाइड कश्मीर

पटेल की बात मानी होती तो नहीं होता ऑक्युपाइड कश्मीर

- Advertisement -

शिमला। कश्मीर समस्या कांग्रेस पार्टी की ही देन है। अगर स्वर्गीय सरदार पटेल का निर्णय मान लिया होता तो आज पाक ऑक्युपाइड कश्मीर ही न होता। आज यदि हजारों नागरिक और हजारों सैनिक हताहत हुए हैं, उसकी सम्पूर्ण जिम्मेवारी कांग्रेस नेतृत्व पर आती है। यह बात  बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष  सतपाल सिंह सत्ती ने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कही। उन्होंने राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा द्वारा दिए बयान को भारत के हितों के विपरीत बताया है। जब भी दुनिया के साथ टकराने का विषय आया तो देश के सभी राजनीतिक दल, जो भी सरकार और जो भी प्रधानमंत्री रहे उनके साथ खड़े रहे और पूरा देश दुश्मनों से लोहा लेने के लिए एक साथ रहा। परन्तु जिस हिम्मत के साथ, जिस निर्णायक क्षमता के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सेना का मनोबल बढ़ाते हुए सेना को कार्रवाई करने के लिए प्रेरित किया और सेना ने दुश्मनों को उनके घर में जाकर सीधा किया, ऐसे में कांग्रेस के नेता पूरे देश से अलग-थलग दिखाई दे रहे हैं।

  • सतपाल सिंह सत्ती बोले, कश्मीर समस्या कांग्रेस की देन
  • हजारों नागरिकों और सैनिकों के हताहत होने की जिम्मेवार कांग्रेस
  • राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा  का बयान भारत के हितों के खिलाफ बताया

m_id_428971_sharamaबीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि ऐसे में आनंद शर्मा  का बयान शरारतपूर्ण दिखाई देता है।  सत्ती ने कहा कि नरेन्द्र मोदी ने दुनियाभर में भारत का खोया हुआ मान-सम्मान वापस बरकरार किया है। दुनियाभर में भारत के नागरिकों को हीन दृष्टि से देखा जाता था। नरेन्द्र मोदी के प्रयासों ने भारत की छवि को और भारत के मान-सम्मान को दुनियाभर में बढ़ाया है।

सतपाल सत्ती ने आरोप लगाया कि भारत के मान-सम्मान को विश्वभर में केवल कांग्रेस ने ही क्षति पहुंचाई और उसमें आनंद शर्मा भी शामिल हैं। इसलिए कश्मीर की समस्या को जन्म देने वाले, विश्व में भारत की साख को डुबोने वाले अपने गिरेबान में झांके और उसके बाद ही मोदी के बारे में कुछ कहें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है