×

पहली, दूसरी और तीसरी बार जुर्माना, चौथी शिकायत आई तो सीधे Blacklist

पहली, दूसरी और तीसरी बार जुर्माना, चौथी शिकायत आई तो सीधे Blacklist

- Advertisement -

शिमला। ढाबों तथा रेस्तरां में गुणवत्तापूर्ण आहार की उपलब्धता सुनिश्चित बनाने के लिए निर्णय लिया गया है कि प्रथम शिकायत पर मालिक पर 5000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। दूसरी और तीसरी बार मालिकों पर यह जुर्माना क्रमशः 10000 रुपये तथा 20000 रुपये होगा। चौथी बार शिकायत मिलने पर ढाबे या रेस्तरां को तीन वर्षों के लिए ब्लैकलिस्ट किया जाएगा। यह बात परिवहन मंत्री जीएस बाली ने कही। परिवहन मंत्री जीएस बाली ने कहा कि सभी एचआरटीसी वेब पोर्टल के सभी अग्रिम बुकिंग काउंटरों पर पेटीएम वॉलेट से भुगतान की सुविधा शुरू की जाएगी। यह सुविधा ज्यादातर लोगों द्वारा पेटीएम वॉलिट प्रयोग करने को ध्यान में रखते हुए शुरू की जा रही है।


  • बाली बोले, ढाबों व रेस्तरां में गुणवत्तापूर्ण आहार की उपलब्धता के लिए लिया निर्णय
  • जीएस बाली का ऐलानः एचआरटीसी में पेटीएम वॉलेट सुविधा जल्द होगी शुरू

उन्होंने कहा कि सभी अग्रिम बुकिंग काउंटरों पर 20 फरवरी तक डेबिट/क्रेडिट कार्डों द्वारा भुगतान करने के लिए 200 पीओएस मशीनें स्थापित की जाएंगी तथा यह सुविधा सुपर लग्जरी बसों के कंडकटरों को उपलब्ध करवाई जाएगी।

9 से चलेगी हमीरपुर-अमृतसर वाया होशियारपुर सुपर लग्जरी बस

बाली ने कहा कि शिमला से चंडीगढ़ (दो चक्कर) के लिए सुपर लग्जरी बस सेवा शुरू होगी। मंडी जिला के सरकाघाट क्षेत्र के लोगों को सुविधा प्रदान करने के लिए जाहु-दिल्ली सुपर लग्जरी बस सेवा को आगामी तीन दिनों के भीतर सरकाघाट तक बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमीरपुर-अमृतसर वाया होशियारपुर सुपर लग्जरी बस सेवा 9 फरवरी से शुरू की जाएगी, जबकि स्वर्ण मन्दिर सुपर लग्जरी बस सेवा आने वाले दिनों में शिमला से अमृतसर के लिए शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि टांडा मेडिकल कालेज के कर्मचारियों तथा छात्रों की सुविधा के लिए मुद्रिका बस सेवा मैक्लोड़गंज से मेडिकल कॉलेज तक शुरू की जाएगी। बाली ने कहा कि यात्रियों के लिए सुरक्षित तथा आरामदायक यात्रा सुविधा सुनिश्चित बनाने के लिए विभिन्न कदम उठाए गए हैं तथा यात्रियों की मांगों को ध्यान में रखते हुए भविष्य में और भी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। परिवहन मंत्री ने कहा कि चालू वित्त वर्ष के दौरान निगम का राजस्व 508 करोड़ रुपये से बढ़कर 560 करोड़ रुपये दर्ज किया गया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है