Expand

फर्जी गरीबों को पहचानेगा नगर निगम

फर्जी गरीबों को पहचानेगा नगर निगम

- Advertisement -

गफूर खान/धर्मशाला। नगर निगम धर्मशाला भी अब फर्जी गरीबों की पहचान करेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायतों की तर्ज पर निगम के दायरे में रहने वाले बीपीएल परिवारों के घरों के बाहर भी बीपीएल की पट्टिकाएं लगाई जाएंगी। निगम की वीरवार को हुई बैठक में इस आशय का निर्णय लिया गया। नगर निगम की इस मुहिम से जहां फर्जी गरीबों की पहचान हो पाएगी, वहीं पात्रों को बीपीएल सूची में शामिल होने का मौका मिलेगा। नगर निगम ने पटि्टकाएं लगाने का कार्य आगामी 15 दिनों में शुरू करने का निर्णय लिया है। जिसके लिए औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। नगर निगम धर्मशाला के अंतर्गत आते बीपीएल परिवारों में से 4 लोगों ने साधन संपन्न होने पर बीपीएल से नाम हटाने के लिए आवेदन किया है। नगर निगम धर्मशाला के 17 वार्डों में 1269 बीपीएल परिवार हैं, इनमें से कितने पात्र हैं और कितने अपात्र, इसकी जानकारी नगर निगम को नहीं है। ऐसे में अब नगर निगम बीपीएल परिवारों के घरों के बाहर पटि्टकाएं लगाएगी।

  • घरों के बाहर लगेंगी बीपीएल पटि्टकाएं
  • 15 दिन में शुरू होगा पटि्टकाएं लगाने का कार्य

mcगौरतलब है कि बीपीएल परिवारों के घरों के बाहर परिवार के मुखिया सहित अन्य जानकारियां लिखने का कार्य शुरू होने के बाद कई फर्जी गरीबों का भंडाफोड़ हुआ था जो कि साधन संपन्न होने के बावजूद बीपीएल सूची में नाम दर्ज करवाकर सरकारी योजनाओं का लाभ उठा रहे थे। ऐसी शिकायतें सरकार व विभाग को मिलने के बाद सरकार ने बीपीएल परिवारों के घरों के बाहर संबंधित परिवारों की जानकारी लिखने की मुहिम शुरू की थी। इस मुहिम के सार्थक परिणाम भी सामने आए हैं, जिसके चलते कई लोगों ने अपने नाम बीपीएल सूची से कटवाए हैं, लेकिन कई लोग अपात्र होने के बावजूद बीपीएल का लाभ ले रहे हैं। पात्रों को बीपीएल की सुविधाएं व लाभ मिले, इसी के चलते नगर निगम धर्मशाला अब बीपीएल परिवारों के घरों के बाहर पटिटकाएं लगाने जा रहा है।
नगर निगम धर्मशाला की मेयर रजनी व्यास ने बताया कि नगर निगम के अंतर्गत आते 1269 बीपीएल परिवारों के घरों के बाहर पटि्टकाएं लगाने का कार्य आगामी 15 दिनों में शुरू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 4 लोगों ने साधन संपन्न होने के बाद बीपीएल से नाम कटवाने के लिए आवेदन किया है। उन्होंने कहा कि जो लोग साधन संपन्न होने के बावजूद बीपीएल सूची में हैं, वे स्वेच्छा से अपना नाम बीपीएल सूची से कटवाएं, जिससे पात्रों को इसमें शामिल किया जा सके।mc-dharm

सफाई व्यवस्था रहा निगम की बैठक का मुख्य मुद्दा

धर्मशाला। नगर निगम धर्मशाला की सामान्य बैठक का आयोजन वीरवार को किया गया। नगर निगम की मेयर रजनी व्यास ने बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक में निगम के दायरे में चरमराई हुई सफाई व्यवस्था मुख्य रूप से चर्चा में रही। बैठक में उपस्थित सफाई ठेकेदारों को भी खूब लताड़ लगाई गई। शहर में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए फिलहाल 40 नए डस्टबिन लगाने पर भी सहमति बनी। नगर निगम की मेयर रजनी व्यास ने बताया कि जब तक अंडर ग्राउंड डस्टबिन नहीं लगते हैं तब तक वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर, अधिक कूड़े वाले स्थानों पर अतिरिक्त डस्टबिन लगाए जाएंगे। निगम क्षेत्र में शौचालय निर्माण के लिए दी जाने वाली सहायता राशि में भी बढ़ोतरी की गई है। पहले यह राशि 5 हजार 333 रुपये थी जिसे अब बढ़कर 12 हजार रुपए करने को मंजूरी दी गई है।

  • निगम की बैठक में पार्किंग स्थलों की नीलामी करने पर भी विचार किया गया और जल्द ही निगम के पार्किंग स्थलों की नीलामी करने का निर्णय लिया गया

निगम की बैठक में पार्किंग स्थलों की नीलामी करने पर भी विचार किया गया और जल्द ही निगम के पार्किंग स्थलों की नीलामी करने का निर्णय लिया गया। नगर निगम क्षेत्र में शामिल नए क्षेत्रों में धड़ल्ले से नए भवनों का निर्माण शुरू है। इनमें अवैध रूप से बन रहे भवनों के निरीक्षण के लिए कमेटी के गठन पर भी इस बैठक में चर्चा की गयी। मेयर ने बताया कि इस कमेटी में निगम के तकनीकी अधिकारी शामिल होंगे और वह सभी स्थानों पर जाकर जांच करेंगे कि बन रहा भवन नियमानुसार बन रहा है अथवा नहीं। यह कमेटी अवैध रूप से बन रहे भवनों के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति नगर निगम से करेगी। नगर निगम क्षेत्र में शहरी गरीबों के लिए बन रहे मकान के लिए एकल महिलाओं को प्राथमिकता दी जायेगी। नगर निगम की बैठक में इस बारे में सहमति बनी की शहरी गरीबों के लिए बन रहे मकान प्राथमिकता के आधार पर उन गरीब महिलाओं को दिए जाएंगे जो विध्वा, परित्यक्ता या अविवाहित हैं। इस योजना के तहत पहले चरण में 144 मकान बनाए जा रहे हैं और अभी तक निगम के पास मकान प्राप्त करने के लिए 328 आवेदन आ चुके हैं। नगर निगम क्षेत्र में पुरानी शैली में भवन बनाने वालों को कोई टैक्स अदा नहीं करना पड़ेगा। ऐसे मकान बनाने के इच्छुक लोगों को अपने घर का नक्शा बनाकर देना होगा, जिसे निगम अप्रूव करेगा। इस प्रक्रिया में मकान बनाने वाले से किसी तरह का शुल्क नहीं लिया जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है