Covid-19 Update

59,032
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
116,748,718
मामले (भारत)
11,192,088
मामले (दुनिया)

मुकाम : घर से की शुरुआत, आज सारा देश जानता है

मुकाम : घर से की शुरुआत, आज सारा देश जानता है

- Advertisement -

मंडी। स्वच्छता अभियान भले ही अधिकतर लोगों के पल्ले न पड़ा हो, लेकिन जिसने इसकी अहमियत को समझा उसने इतनी लगन के साथ काम किया कि राष्ट्रीय स्तर तक अपनी पहचान बना दी। बात हो रही है मंडी जिला के खद्दर गांव की कांता देवी की। बता दें कि खद्दर गांव मंडी जिला के तहत आने वाले जोगिंद्रनगर उपमंडल की लडभडोल तहसील का एक छोटा सा गांव है।

  • मंडी के खद्दर गांव की कांता देवी ने अपने इरादों से बदल दी लोगों की सोच
  • स्वच्छता अभियान में दिया योगदान, पीएम मोदी ने भी सराहा

इस गांव की कांता देवी ने सिर्फ स्वच्छता के दम पर देश भर में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। 2 अक्तूबर 2014 को जब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अभियान की शुरुआत की तो कांता देवी ने भी जिला प्रशासन के मार्गदर्शन से अपने गांव में इस अभियान का आरंभ किया। कांता देवी ने स्वच्छता अभियान की शुरुआत अपने घर से की और अपने घर की खाली दीवारों को स्वच्छता के नारों से रंग दिया। कांता देवी ’’नारी शक्ति महिला मंडल खद्दर’’ की प्रधान हैं। इन्होंने अपने महिला मंडल के साथ मिलकर पूरे गांव में स्वच्छता की अलख जगाने का कार्य शुरू कर दिया।

  • आज गुजरात के गांधीनगर में पढ़ाएंगी स्वच्छता का पाठ

प्रशासन का मार्गदर्शन मिलता रहा और कांता देवी तथा महिला मंडल की सहयोगी महिलाएं अपने गांव में स्वच्छता की जागरूकता फैलाने के कार्य को और तेजी के साथ करती गईं। महिलाओं ने घर-घर जाकर लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया। गांव के रास्तों की सफाई की गई, जगह-जगह स्वच्छता के नारे लिखे गए और कूड़ेदान रखे गए, ताकि कोई खुले में कूड़ा न फेंके। यही नहीं कांता देवी ने लोगों को व्यक्तिगत स्वच्छता के प्रति भी जागरूक किया और स्कूलों में जाकर बच्चों को बताया कि उन्होंने किस प्रकार अपने हाथ धोने हैं, नाखून काटने हैं और अपनी स्वच्छता का ध्यान रखना है।

कांता देवी के इन प्रयासों में महिला मंडल की बाकी सदस्यों का भी पूरा योगदान रहा। साथ ही ग्रामीणों ने भी इसमें अपना पूरा सहयोग दिया। नतीजा यह निकला कि कांता देवी के इन प्रयासों को राष्ट्रीय स्तर पर सराहा गया। गत वर्ष जब मंडी जिला को देश भर में ग्रामीण स्वच्छता का पहला पुरस्कार मिला तो उस वक्त उपायुक्त मंडी संदीप कदम के साथ कांता देवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों यह सम्मान प्राप्त किया था। अब एक बार फिर कांता देवी को महिला दिवस पर गुजरात के गांधीनगर में स्वच्छता का पाठ पढ़ाने का मौका मिला। कांता देवी ने बताया कि उन्हें इस बात का गर्व है कि उनके कार्यों की सराहना हो रही है और बाकी लोगों को भी इससे प्रेरणा मिल रही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है