Covid-19 Update

2,06,161
मामले (हिमाचल)
2,01,388
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,695,958
मामले (भारत)
199,022,838
मामले (दुनिया)
×

युवक Murder: कटघरे में Kangra पुलिस, जिम्मेवारी से चूकी!

- Advertisement -

कांगड़ा। ललेहड़ के युवक की हत्या के इस मामले में कांगड़ा पुलिस की कार्यप्रणाली भी कटघरे में आती दिखाई दे रही है। इस मामले कहीं न कहीं पुलिस अपनी जिम्मेवारी से चूकी है। ऐसा क्यों हुआ है, इसका पता तो जांच के बाद चल पाएगा, लेकिन जांच से पहले ही उस दिन मौके पर गए पुलिस कर्मियों को आलाधिकारी ने क्लीन चिट दे दी है। पुलिस का तर्क है कि दो जून को उन्हें सूचना मिली थी और पुलिस मौके पर गई थी, लेकिन शिकायतकर्ता व युवक के परिजनों ने आपस में मामले को सेटेल कर लिया और किसी प्रकार की एफआईआर दर्ज नहीं करवाई। वहीं पुलिस का भी कहना है कि युवक को इतनी गंभीर चोट नहीं लगी थी, जिससे उसका उपचार करवाया जाता। अब सवाल यह है कि बिना डॉक्टर की सलाह से पुलिस को कैसे पता चल गया कि युवक को गंभीर चोट नहीं लगी है। हालांकि बाद में युवक की मौत भी हो गई।

  • अगर दो जून को ही पता चल गया था मामले का तो क्यों नहीं की कार्रवाई
  • हालांकि पुलिस का तर्क की दोनों ही पक्षों ने नहीं करवाया मामला दर्ज

प्राप्त जानकारी के अनुसार दो जून को कांगड़ा पुलिस को मर्डर आरोपी का फोन आता है और वह कहता है कि उसके घर में एक युवक घुस आया है। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंचती है। जब पुलिस पहुंचती है तो युवक के परिजन भी मौके पर पहुंच गए होते हैं। अब पुलिस किसी पर भी कार्रवाई किए बिना लौट आती है। उस दौरान शिकायतकर्ता, युवक के परिजनों व पुलिस के बीच क्या बातचीत हुई इसका तो पता उन्हें ही होगा पर पुलिस के इस मामले में कार्रवाई न करने पर सवाल खड़ा हो गया है।


पुलिस की माने तो दोनों ही पक्षों ने आपसी समझौता कर लिया व मामला दर्ज नहीं करवाया। अगर दोनों ही पक्षों ने मामला दर्ज नहीं करवाया तो क्या पुलिस के पास ऐसा कोई अधिकार नहीं है, जिससे की वह इस मामले में कार्रवाई करती और युवक को मेडिकल के लिए ले जाती। अब पुलिस का यह भी तर्क है कि युवक को गंभीर चोट नहीं थी। हालांकि यह माना कि सिर पर चोट लगी थी। पर अगर चोट गंभीर नहीं थी तो युवक की मौत कैसे हो गई। इस पर भी सवाल है।

क्या कहते हैं डीएसपी कांगड़ा
डीएसपी कांगड़ा सुरेंद्र शर्मा का कहना है कि मर्डर मामले के आरोपी का ही दो जून को पुलिस के पास फोन आया था और उसने युवक जिसका मर्डर हुआ है के उसने घर में घूसने की बात कही थी। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो युवक के परिजन भी पहुंच गए थे और शिकायतकर्ताओं और युवक के परिजनों ने कोई मामला दर्ज नहीं करवाया। युवक को घर ले गए। युवक के घायल होने की बात पर उन्होंने कहा कि युवक के सिर पर चोट लगी थी और चोट इतनी गंभीर नहीं थी कि युवक को अस्पताल में भर्ती करवाया जाता। उन्होंने कहा कि दो जून को मौके पर गए पुलिस कर्मियों से सारी जानकारी हासिल की है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है