Covid-19 Update

2,27,354
मामले (हिमाचल)
2,22,669
मरीज ठीक हुए
3,833
मौत
34,606,541
मामले (भारत)
264,096,760
मामले (दुनिया)

वीरभद्र के नाम की बैसाखी, किसकी बनेगी खेवनहार

- Advertisement -

सियासत में आपका कद आपके नाम से जाना जाता है। अगर नाम की कील आपने सियासत की इमारत में ठोक दी, तो आने वाली पीढ़ी उसी कील के सहारे अपनी राजनीति के कुर्ते को टांग कर सियासत की रोटी सेंकते रहेगी। हिमाचल की सियासी बिल्डिंग में राजा वीरभद्र सिंह वही कील है। जिस पर ना सिर्फ कांग्रेस और राजा परिवार बल्कि सीएम जयराम भी अपना राजनीतिक कुर्ता हर रोज टांग रहे हैं। राजा वीरभद्र सिंह के निधन के बाद हिमाचल की सियासत सुनी हो गई है। शांता कुमार वयोवृद्ध होकर एकांतवास में हैं, धूमल को बीजेपी ने ही खुद 2017 में साइड लाइन कर दिया था। हिमाचल की सियासत के राजा का कुछ महीने पहले निधन हो चुका है। सीएम जयराम की फेस वैल्यू अभी भी मंडी से बाहर की नहीं बन पाई है। खुद राजा वीरभद्र सिंह की पत्नी व पूर्व सांसद प्रतिभा सिंह सांत्वना वोट बटोरने के लिए राजा साहेब का नाम लेने से नहीं थकती, भरमौर से विधायक रहे ठाकुर सिंह भरमौर वीरभद्र का नाम लेने पर फफक कर रो पड़ते हैं। नेता प्रतिपक्ष शिमला के रिज पर प्रतिमा लगाने की बात करते हैं। इस बार उपचुनाव कांग्रेस और बीजेपी के बीच विकास पर नहीं बल्कि वीरभद्र सिंह के नाम पर टिकी हुई है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED VIDEO

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है