Covid-19 Update

2,27,195
मामले (हिमाचल)
2,22,513
मरीज ठीक हुए
3,831
मौत
34,596,776
मामले (भारत)
263,226,798
मामले (दुनिया)

शांता की चेतावनी- भाजपाई रहो या चलते बनो

- Advertisement -

जब गुजरात में माधव राव सोलंकी (फोटो सर्च कर लेना) खाम नीति लेकर आए, तो बीजेपी ने कमोबेश इसी फॉर्मूले को 90 के दशक में हिमाचल में लागू करने की कोशिश की। माधव राव ने गुजरात में पटेल पाटीदार को साइड लाइन किया, यही प्रयोग हिमाचल में बीजेपी ने राजपूतों के साथ किया। 90 के चुनाव में बीजेपी को सफलता भी मिली। लेकिन सत्ता के हवन कुंड की आंच को शांता कुमार पूरे पांच साल तक सुलगाने में फेल हो गए। उसके बाद से सियासत में यह तय हुआ कि ब्राह्मणों के टीके से राजपूत सत्ता की सिंहासन पर बैठेंगे। और ब्राह्मण दरबार की शोभा बढ़ाएंगे। इधऱ, शांता कुमार 90 के बाद प्रदेश की राजनीति से देश की राजनीति में सक्रिय हुए। उधर, देश की राजनीति से प्रदेश की ओर पंडित सुखराम ने अपना कदम बढ़ाया। और यहीं से सियासी रार दोनों ब्राह्मणों में ठन गई। और आज उसकी एक बानगी फिर से कैमरे के सामने भी

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED VIDEO

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है