Covid-19 Update

2,22,890
मामले (हिमाचल)
2,17,495
मरीज ठीक हुए
3,721
मौत
34,200,957
मामले (भारत)
244,634,716
मामले (दुनिया)

हंसराज और विक्रमादित्य ने एक दूसरे को दिलाई परवरिश की याद

- Advertisement -

देश का लोकतंत्र 75 सालों में कितना मजबूत हुआ है यह तो कहा नहीं जा सकता है…. लेकिन इस लोकतंत्र की दुहाई देकर सियासत की रोटी सेंकने वालों की जुबान चुनाव से पहले जरूर फिसलती है……चुनाव से पहले विकास की बात करने वाले नेता चुनाव आते ही संस्कारों और परवरिश पर आ जाते हैं….एक दूसरे के मां बाप का लिहाज किए बगैर उनके ऊपर ही इल्जाम लगा देते हैं….. जिसकी एक बानगी उपचुनाव में देखने को मिल रही है……कांग्रेस ने जब काफी खींचतान के बाद मंडी सीट से प्रतिभा सिंह के नाम पर मुहर लगाई तो….. विक्रमादित्य सिंह ने दिवंगत पिता को याद करते हुए फेसबुक पर पोस्ट लिखा….कांग्रेस ने अपने पोस्टर पर प्रतिभा सिंह के साथ वोट नहीं श्रद्धांजलि का कोट डाला… मतलब साफ है…. सदभावना संदेश देकर लोगों के दिलों मे जगह बनाना और उनके वोट से बीजेपी को शिकस्त देना….. प्रतिभा सिंह और पूर्व सीएम दिवंगत राजा वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य ने नाम फाइनल होने के बाद सोशल मीडिया पर एक इमोशनल पोस्ट किया….. फेसबुक पर विक्रमादित्य सिंह ने लिखा है, ‘वीरभद्र सिंह द्वारा किए गए कामों को विनम्र श्रद्धांजलि….. वही विचार वही सोच हिमाचल का सर्वत्र विकास….. मंडी संसदीय क्षेत्र के अधूरे पड़े विकास कार्य को सही मुकाम तक पहुंचाना है….. सकारात्मकता से आगे बढ़ेंगे, सही का समर्थन और गलत का विरोध करेंगे.’ विक्रमादित्य के इस पोस्ट पर बीजेपी विधायक व डिप्टी स्पीकर ने जवाबी हमला किया…… ‘लाश की राजनीति’ परिवार का संस्कार है.. दरअसल, बीजेपी अभी तक अपने उम्मीदवारों का घोषणा नहीं कर पाई है…. जबकि कांग्रेस ने प्रत्याशियों के नाम का ऐलान कर सियासत की चौसर पर पहली चाल चल दी है…. जिसके चलते हंसराज ने जवाबी हमला किया….. हंसराज ने अपने पोस्टर पर जिन बातों का जिक्र किया उन्हें आप एक बार गौर से देखिए…. सियासत में विकास का नारा देकर सत्ता में आने वाले ये विधायक वोट मांगते वक्त उसी विकास को पीछे छोड़ आते हैं…. और साथ लाते हैं अपने साथ ये बातें…. बहराहाल, प्रतिभा सिंह यह बात खुले तौर पर मान चुकी हैं कि सीएम का गृह जिला होने के चलते उनकी राह आसान नहीं रहने वाली है….. जबकि सीएम मंडी सहित तीनों विधानसभा के उपचुनाव जीतने के लिए पूरे जोर आजमाइश में लगे हुए हैं……देखना दिलचस्प होगा कि जनता 30 अक्टूबर को सदभावना पर वोट डालती है या फिर बीजेपी के स्लोगन पर वोट डालती है. …..

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED VIDEO

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है