×

हैवानियतः School Canteen के बाहर अधेड़ ने दो मासूमों से की छेड़छाड़

हैवानियतः School Canteen के बाहर अधेड़ ने दो मासूमों से की छेड़छाड़

- Advertisement -

रेवाड़ी। देश व प्रदेश की सरकारें भले ही बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं का दम भरते नहीं थकती हों, लेकिन हकीकत यह है कि आज भी बेटियां महफूज नहीं हैं। इसी के चलते रेवाड़ी जिला के गांव मस्तापुर में 10 वर्षीय दो मासूमों के साथ एक अधेड़ शख्स द्वारा स्कूल की कैंटीन में छेड़छाड़ करने का मामला सामने आया है। इन मासूमों को जिंदगी के सही मायनों के बारे में अभी कुछ भी नहीं पता है, लेकिन निजी स्कूल की एक कैंटीन चला रहे अधेड़ ने सारी सीमाएं लांघ दी और उसने एक नहीं, बल्कि दो-दो मासूमों के साथ नाजायज हरकतें कर डाली।


  • रेवाड़ी के मस्तापुर में वारदात, पंचातय ने नाक रगड़वा कर छोड़ा आरोपी

इनमें से एक मासूम ने जब घर जाकर परिजनों को आपबीती बताई तो उनका गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ गया और वे स्कूल जा पहुंचे। मामले को गर्माता देख स्कूल संचालक ने पुलिस कंट्रोल रूम को इसकी सूचना दी और पुलिस मौके पर भी पहुंची, लेकिन खाली हाथ बैरंग लौट आई। तभी गांव के सरपंच आरोपी शख्स को लेकर गांव में पहुंचे और आरोपी से भरी पंचायत में नाक रगड़वाकर उसे छोड़ दिया गया।

सरपंच ने ऐसा करके न केवल आरोपी को बचाया, बल्कि अपने आपको कानून से भी ऊपर समझ लिया। वहीं आरोपी का कहना है कि भरी पंचायत में न केवल उससे नाक रगड़वाई गई, बल्कि उसके मुंह पर थूका भी गया है। आरोपी अपने आपको निर्दोश बता रहा है, लेकिन बच्चिायों द्वारा कही गई बातें कितनी झूठी हैं, यह आप भी समझ सकते हैं। मासूमों का कहना है कि पहले एक मासूम से जब अधेड़ द्वारा छेड़छाड़ कर किसी को न बताने की बात कही, लेकिन उसने अपनी एक दोस्त से आपबीती बताई। मगर जब उस सहेली के साथ भी यही हरकत हुई तो यह मामले ने तूल पकड़ लिया। वहीं हैरान करने वाली बात यह है कि मासूमों के साथ इतनी बड़ी घटना होने के बावजूद पुलिस भी पंचायती फैसले के आगे अपने आपको न केवल असहाय महसूस कर रही है, वहीं ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह है कि पंचायत ने सही और गलत का फैसला आखिर कैसे ले लिया।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है