Covid-19 Update

1,64,355
मामले (हिमाचल)
1,28,982
मरीज ठीक हुए
2432
मौत
25,227,970
मामले (भारत)
164,275,753
मामले (दुनिया)
×

तैयारीः 100 साल बाद बदलेंगे Himachal police के Rules

तैयारीः 100 साल बाद बदलेंगे Himachal police के Rules

- Advertisement -

लोकिन्दर बेक्टा/ शिमला। करीब 100 साल बाद हिमाचल पुलिस अपने नियमों के हिसाब से काम करेगा। रूल्स बनाने का काम प्रगति पर है ओर मार्च तक यह पूरा भी हो जाएगा। बहरहाल, हिमाचल प्रदेश पुलिस के अपनेनियम (रूल्स) जल्द तैयार हो जाएंगे। ये नियम करीब 100 वर्ष बाद बदले जा रहे हैं। नए नियमों के बनने से पुलिस के कामकाज की खामियां दूर होंगी और इससे अब शातिर अपराधी बच नहीं पाएंगे जो अब तक नियमों में कमियां गिनकर बच निकलते थे।


  • मार्च तक पूरा होगा काम, पुलिस के कामकाज की दूर होंगी खामियां
  • अब तक करते रहे हैं पंजाब के नियमों का पालन

इसके साथ-साथ अपराध को लेकर जिन्हें न्याय नहीं मिल पाता था, उन्हें भी न्याय मिलेगा। पुलिस अपने नियमों में ऐसा प्रावधान करने जा रही है, जिससे संगीन व अन्य अपराध करने वाले बच नहीं पाएंगे और कोर्ट में नियमों की खामियों से अपने को निर्दोष साबित नहीं कर सकेंगे। हिमाचल पुलिस का अपना एक्ट 2006 में बन गया था और उसके बाद अब इसके नियम बन रहे हैं। नियम बनाने का जिम्मा तीन सदस्यीय कमेटी को सौंपा गया है। सरकार को उम्मीद है कि मार्च माह तक नए नियम बन जाएंगे। अभी तक यहां पंजाब के नियम लागू होते हैं। नए नियम बनने के बाद हिमाचल पुलिस के अपने नियम लागू होंगे। नए नियमों में पुराने नियमों की कमियों को दूर किया जाएगा। इसके तहत पुलिस सैल में बंद होने वाले आरोपियों और आम लोगों को प्रताड़ित करने वाले पुलिस अधिकारियों व कर्मियों की भी अब खैर नहीं है। पुलिस के साथ ड्यूटी के दौरान होने वाले दु‌र्व्यवहार को लेकर भी नियम कड़े हो जाएंगे।


जानकारी के मुताबिक पुलिस के अपने नियम इस वर्ष लागू हो जाएंगे। नए बनाए जा रहे नियमों में अब जांच अधिकारियों को जांच का पल-पल का ब्यौरा देना होगा। अब लचर व्यवस्था को अपनाने वाले नपेंगे और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस की कार्यप्रणाली में ज्यादा पारदर्शिता लाने की भी तैयारी है। हिमाचल पुलिस नियमों में हो रहे बदलाव के तहत सर्वोच्च न्यायालय और उच्च न्यायालयों द्वारा किए गए प्रावधानों को शामिल किया जाएगा। इन नियमों को कड़ाई से लागू करने के लिए कठोर सजा का प्रावधान किया जा रहा है। फर्जी व झूठी जानकारी देने वालों पर अब शिकंजा कसा जाएगा। अभी तक इस संबंध में कोई प्रक्रिया नहीं अपनाई जा रही थी। प्रधान सचिव (गृह) प्रबोध सक्सेना ने बताया कि हिमाचल पुलिस के अपने नियम बनाने की प्रक्रिया चल रही है और उम्मीद है कि मार्च तक ये बन जाएंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है